Subscribe Us

भारतीय मानवाधिकार सुरक्षा परिषद की प्रथम बैठक सम्पन्न, कई पदाधिकारी हुए नियुक्त

  सत्य स्वरूप संवाददाता

  लखनऊ। भारतीय मानवाधिकार सुरक्षा परिषद की रविवार को प्रथम सफल बैठक का आयोजन हुआ जिसमें मुख्य अतिथि के रुप में आनंद लाल श्रीवास्तव इंस्पेक्टर, पुलिस मुख्यालय, उत्तर प्रदेश उपस्थित रहे। जिनके दिशा निर्देशन में सभी नवनियुक्त पदाधिकारियों को नियुक्ति पत्र एवं आईडी कार्ड देकर उनको उनके कार्य और जिम्मेदारी सौंपी गई। एवं सभी लोगों को उनके कार्यों के अधिकारों से अवगत कराया गया। जिसमें मानव के अधिकारों के समस्त बिंदुओं पर चर्चा की गई। केंद्रीय निदेशक सौरभ श्रीवास्तव  की अध्यक्षता में  बैठक का संचालन केंद्रीय प्रमुख सचिव नमन श्रीवास्तव के द्वारा हुआ जिसमें रागिनी श्रीवास्तव को केंद्रीय कोषाध्यक्ष, नमन श्रीवास्तव को केंद्रीय प्रमुख सचिव, निहारिका वर्मा  को केंद्रीय उपनिदेशक, अमन चौधरी  को वरिष्ठ प्रदेश उपाध्यक्ष, एस मूर्ति  को वरिष्ठ मंडल उपाध्यक्ष लखनऊ मंडल, आयुष गुप्ता सदर तहसील महासचिव लखनऊ, समर खान मंडल महासचिव लखनऊ, सुनित कुमार केंद्रीय कार्यालय प्रभारी, ज्योति श्रीवास्तव  मंडल सचिव लखनऊ, अवनीश यादव जिला सचिव लखनऊ, विनय मिश्रा  विशिष्ट सदस्य, पंकज श्रीवास्तव केंद्रीय प्रवक्ता, शबनम  सदस्य विकास वर्मा केंद्रीय महासचिव,

सहित तमाम पदाधिकारियों को उनके नियुक्ति पत्र और आईडी कार्ड देकर उनको कार्यभार सौंपा गया और इसी क्रम में केंद्रीय निदेशक  सौरभ श्रीवास्तव  ने आगामी कार्यक्रमों की घोषणा करते हुए यह कहा कि जिस प्रकार से लखनऊ में लोगों को न्याय पाने के लिए जितनी जद्दोजहद की जाती है। अब उन सब के साथ भारतीय मानवाधिकार सुरक्षा परिषद कंधे से कंधा मिला कर खड़ा रहेगा। और उनको जो उचित सहयोग हो सकेगा, करेगा और परिषद की दूसरी बैठक तक केंद्रीय निदेशक  सौरभ श्रीवास्तव  की ओर से लखनऊ जिला कमेटी और लखनऊ मंडल कमेटी को पूरा करने के लिए समस्त पदाधिकारियों को दिशा निर्देश दिए गए।

हर कदम पर खड़ा है संगठन:- सौरभ

भारतीय मानवाधिकार सुरक्षा परिषद के केंद्रीय निदेशक ने अपने वक्तव्य में कहा कि आज देखा जाता है कि इंसाफ की आस में लोगो को दर दर की ठोकरें कहानी पड़ती हैं फिर भी उन्हें इंसाफ नही मिला पाता। कई मामलों में तो पीड़ित की शिकायत तक दर्ज नही होती। पीड़ित अफसरों से लेकर सरकार के जिम्मेदारों तक का चक्कर लगाता है पर सुनवाई शून्य होती है। ऐसे में संगठन की प्राथमिकता होगी कि हर एक पीड़ित की मदद की जाए। यथासंभव पीड़ित की इंसाफ की जंग के लिए भारतीय मानवाधिकार सुरक्षा परिषद सदैव ततपर रहेगा। उन्होंने संगठन के नवनियुक्त पदाधिकारियों से भी अपील करी की जितना ज्यादा हो सके लोगो की मदद संगठन द्वारा की जाए। 

मिलकर हाँथ बढाना है संगठन को मजबूत बनाना है:- नमन

भारतीय मानवाधिकार सुरक्षा परिषद के केंद्रीय प्रमुख सचिव नमन श्रीवास्तव ने कहा कि कोई भी संगठन किसी एक के होने से नही चलता। बल्कि संगठन को मजबूत करने में पदाधिकारी से लेकर हर उस कार्यकर्ता की सहभागिता होती है जो संगठन से जुड़े हुए हैं। ऐसे में यह बहुत जरूरी है कि सन्गठन के नवनियुक्त पदाधिकारी अपना अमूल्य सहयोग देकर हाँथ से हाँथ मिलाकर संगठन को मजबूती प्रदान करने में अपनी सहभगिता दर्ज कराए। नमन ने कहा कि हम संगठित होंगे तब ही हम लोगो की सेवा कर सकेंगे और भारतीय मानवाधिकार सुरक्षा परिषद का ध्येय केवल पीड़ितो को इंसाफ ही नही बल्कि जरूरतमंदों की मदद से लेकर आवश्यक अधिकार दिलाने तक का है जिसके लिए सभी को मिलकर काम करना होगा और तभी संगठन का मकसद पूरा करने में हम सफल होंगे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ