Subscribe Us

बाराबंकी : जी आई सी मैदान में लगे विकास दीपोत्सव मेले का सांसद उपेंद्र रावत ने किया उद्घाटन

  जावेद शाकिब

बाराबंकी। दीपावाली के मौके पर लगने वाले मेले की सभी तैयारियां पूरी हो चुकी है। गुरूवार को प्रदेश भर में मेले का उद्घाटन किया गया। मेले में सांस्कृतिक कार्यक्रम के साथ साथ लेजर शो का भी आयोजन किया गया।


   प्रदेश सरकार के निर्देशन में दीपावली के मौके पर बाराबंकी के जीआईसी मैदान में भी सात दिवसीय मेले का आयोजन किया किया। मेले में स्वनिधि योजना के लाभार्थी, पटरी दुकानदारों, वेण्डरों को उनकी आमदनी बढ़ाने के लिए एक प्लेटफार्म उपलब्ध कराने तथा स्वयं सहायता समूह व हस्तशिल्प व्यवसायियों को रोज़गार प्रोत्साहन देने और स्थानीय कलाकारों व प्रतिभाओं को मंच उपलब्ध कराया जाएगा। 
  शहर के जीआईसी मैदान में लगने वाले दीपोत्सव का शुभारम्भ सांसद उपेंद्र रावत द्वारा किया गया। इस मौके पर उन्होंने कहा की मोदी सरकार गरीबों को रोजगार से जोड़ने का हर संभव प्रयास कर रही है। इस मेले के आयोजन का मकसद यही है की छोटे कारोबारी यहां पर अपने स्टाल लगा कर अपनी आमदनी में इजाफा कर करें। महिलाएं आत्मनिर्भर बने इसके लिए महिला सशक्तिकरण पर विशेष ध्यान हमारी सरकार के द्वारा दिया जा रहा है।


   इस मौके पर  जिलाधिकारी ने कहा की कोरोना महामारी के कारण दो सालो से ऐसी प्रदर्शनी का आयोजन नही हो रहा था। इससे पहले लोग यहां पर आकर खूब खरीदारी करते थे। उन्होंने कहा ये सरकार की अच्छी पहल है जिससे एक ही छत के नीचे बहुत सारी चीजे आपके लिए उपलब्ध रहेंगी। और छोटे रोजगार को बढ़ावा मिलेगा।

    आपको बता दें कि विकास दीपोत्सव मेले में बेसिक उत्थान एवं ग्रामीण सेवा संस्थान द्वारा पायलट रूप से जिले के दस गांवों के 752 परिवारों में परिवार सेहत बगीचा लगाने एवं आयुष की जागरूकता के लिए संचालित किए जा रहे मिशन आरोग्यकर का स्टाल लोगों के आकर्षण का केंद्र बना और औषधीय पौधों को जानने और अपने अपने घरों में लगवाने की उत्सुकता वाले लोगों की भीड़ बनी रही। आरोग्यकर के स्टाल का सांसद श्री उपेन्द्र सिंह रावत, जिलाधिकारी डॉ आदर्श सिंह, सीडीओ श्रीमती एकता सिंह, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती राजरानी रावत मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ रामजी, परियोजना अधिकारी डूडा श्री सौरभ त्रिपाठी सहित अनेक अधिकारी व जनप्रतिधियों ने अवलोकन किया। इस अवसर पर आरोग्यकर के संचालक समन्वयक रत्नेश कुमार ने बताया कि चयनित 10 गांवों में प्रत्येक परिवार में 11 प्रकार की औषधियों के पौधे व 11 प्रकार की सब्जियों के बीज देकर परिवार सेहत बगीचा लगाया जा रहा है। इसके साथ ही औषधीय पौधों की जानकारी, दिनचर्या ऋतुचर्या की जानकारी देकर स्वस्थ और निरामय रहने के लिए जागरूकता दी जा रही है। कार्यक्रम की जानकारी मिलने पर सांसद एवं जिलाधिकारी ने कार्यक्रम की सराहना की और सफलता के लिए सहयोग देने का आश्वासन दिया। इस अवसर पर जिला समन्वयक  अंचल कुमार, चाइल्ड लाइन जिला समन्वयक जियालाल, सदस्य प्रदीप कुमार, फ़कीरेलाल, काउंसलर उमादेवी, अमित कुमार द्वारा कई कार्यकर्ता स्टाल पर लोगों को जानकारी दी गई।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ