Subscribe Us

ग्याराहवीं की छात्रा नही खरीद पा रही थी किताब तो चैतन्य वेलफेयर सोसाइटी ने मदद को बढ़ाये हाथ

संस्था पहले भी छात्रा की माँ को दे चुकी है व्यापार का उपहार

लखनऊ। लखनऊ की चर्चित संस्था चैतन्य वेलफेयर फाउंडेशन एक बार फिर चर्चा का विषय बनी हुई है। संस्था द्वारा सदैव ही जरूरतमंदों की सेवा किया जाना व उनका सहयोग करना आम बात है। इस बार चैतन्य वेलफेयर फाउंडेशन ने अंतरराष्ट्रीय बालिका दिवस पर ग्यारहवीं की एक छात्रा को वह उपहार दिया जो देश के भविष्य के लिए सबसे बड़ी जरूरत है। फाउंडेशन की फाउंडर अध्यक्षा ओम सिंह ने बताया था कि जानकारी मिली थी कि एक 11 वीं की छात्रा कुछ किताबें खरीदने में असमर्थ है जिससे उसकी पढ़ाई में बाधा उत्पन्न हो रही है। इसके बाद संस्था ने संज्ञान लेते हुए छात्रा को  उसकी किताबें दिला कर उसके चेहरे पर मुस्कान बिखेर दी।  संस्था की अध्यक्षा ओम सिंह ने बताया कि छात्रा की  मां को भी चैतन्य वेलफेयर फाउंडेशन द्वारा, 15 अगस्त 2021 के दिन एक छोटी दुकान सामान के साथ (गुमटी)लगाकर गिफ्ट की गई थी।लेकिन घर की आर्थिक स्थिति खराब होने की वजह से छात्रा  अपनी हिन्दी, राजनीति विज्ञान, शिक्षा शास्त्र व समाज शास्त्र  की किताबें नही खरीद पा रही थी।

चैतन्य वेलफेयर फाउंडेशन द्वारा  सोमवार को  किताबों का सहयोग  छात्रा के उज्ज्वल भविष्य की कामनाओं के साथ  दिया गया। संस्था की अध्यक्षा ने अंत मे बताया कि  सहयोग करने के लिए दिवाकर अवस्थी, प्रदीप शर्मा  और प्रदीप पात्रा का संस्था आभार व्यक्त करती है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ