Subscribe Us

कमिश्नरेट पुलिस की बंगलादेशी बदमाशों से मुठभेड़, सिपाही घायल तीन बदमाश गिरफ्तार


आधा दर्जन से ज्यादा थे बदमाश,  पाँच अंधेरे में हो गए फरार

डकैती की कई घटनाओं का खुलासा, पूर्वी जोन में हुई डकैतियों की वारदात कुबूली

अपराध संवाददाता

लखनऊ। राजधानी लखनऊ के चिनहट इलाके के मल्हौर में रविवार की देर रात पुलिस की बदमाशों से मुठभेड़ हो गई। इस दौरान बदमाशों ने अंधेरे के बीच अंधाधुंध फायरिंग की। इसी फायरिंग के बीच एक सिपाही गोली लगने से घायल हो गया। इसी दौरान पुलिस ने तीन बदमाशों को गिरफ्तार करने में सफलता हासिल की, जिसमें दो बदमाशों के पैर में गोली लगी है। पुलिस ने घायल बदमाशों व सिपाही को लोहिया अस्पताल पहुंचाया है, जहां उनका इलाज किया जा रहा है। पुलिस का दावा है कि यह बदमाश लखनऊ में डकैती की योजना बना रहे थे, लेकिन उस योजना को नाकाम करते हुए तीन को गिरफ्तार किया गया। अन्य भागे हुए बदमाशों की तलाश में टीम लगाई गई है।

मल्हौर में डकैती डालने की फिराक में था गिरोह

बताते चलें कि, पुलिस दावा कर रही है कि पकड़े गये बदमाश अपने साथियों के साथ मल्हौर में डकैती डालने की योजना से आए हुए थे। देर रात सुरक्षा व्यवस्था को देखते हुए गस्त पर निकली पुलिस टीम ने आधा दर्जन से अधिक बदमाशों को एक साथ रेलवे ट्रैक पर देखा था। शक होने पर बदमाशों को पूछताछ के लिए रोका तो वह बदमाश पुलिस को देखकर भागने लगे। इस बीच पुलिस ने उनको रोकने के लिए घेराबन्दी की तो बदमाशों ने एकाएक फायरिंग शुरू कर दी। इस फयरिंग के बीच एक सिपाही रिंकू  घायल हो गया। पुलिस ने जवाबी कार्रवाई में दो बदमाशों के पैर में गोली मारी, जबकि उसके अन्य साथी अंधेरे का फायदा उठाकर भाग निकले। घायल बदमाशों की पहचान रुबिल और आलम उर्फ अलीम के रूप में हुई है। पकड़े गए तीनों बदमाश संदिग्ध रूप से बांग्लादेशी हैं। पुलिस पकड़े गये बांग्लादेशी डकैत गिरोह के अन्य साथियों के बारे में पता लगा रही है।

डीसीपी की क्राइम टीम से हुई मुठभेड़:- नीलाब्जा चौधरी (आईजी अपराध)

वहीं, आईजी अपराध नीलाब्जा चौधरी की मानें तो देर रात बंगलादेशी डकैत गिरोह व डीसीपी की क्राइम टीम के बीच मुठभेड़ हुई थी। मुठभेड़ की सूचना पर कई थानों की पुलिस भी मौके पर पहुंच गई। देर रात तक तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया गया। इसके साथ ही उनके अन्य साथियों की तलाश होती रही, लेकिन उनका सुराग नहीं लग सका है। उन्होंने कहा अभी तक की जानकारी में यह मिला है कि इन बदमाशों ने दिल्ली, मध्य प्रदेश व यूपी के अन्य जनपदों में डकैती की वारदात को अंजाम दिया है। आईजी का कहना है कि पकड़े गये बदमाशों द्वारा ही सहारा हॉस्पिटल के पीछे इंजीनियर के घर में डकैती की वारदात को अंजाम दिया गया था।  उन्होंने कहा यह बदमाश वारदात को अंजाम देकर बांग्लादेश भाग जाते थे यही वजह है पुलिस इन तक नहीं पहुंच पाई थी। आईजी का कहना है कि आरोपियों से पूछताछ के बाद ही आगे का पूरा मामला स्पष्ट हो पायेगा।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ