Subscribe Us

नवाबों की नगरी को लगी टप्पेबाजों की नज़र, 33 दिन में घटित हुई टप्पेबाजी की आधा दर्जन वारदातें


पुलिस चौकी के करीब बुजुर्ग को निशाना बनाने वाले टप्पेबाजों तक नही पहुँचे कानून के हाँथ

सत्य स्वरूप संवाददाता

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में पुलिस से बेखौफ नकली पुलिस कर्मी टप्पेबाज लगातार टप्पेबाजी की वारदातों को अंजाम दे रहे हैं और पुलिस उनका बाल भी बांका नहीं कर पा रही हैं । टप्पेबाजो ने पिछले 33 दिनों में टप्पेबाबाजी की 6 वारदातों को अंजाम दिया है टप्पेबाजी की ताजी घटना बुधवार के दिन दोपहर आशियाना थाना क्षेत्र अंतर्गत बांग्ला बाजार पुलिस चौकी से महज़ 50 मीटर की दूरी पर बंगला बाजार के रहने वाले 70 साल के बुजुर्ग रेलवे के रिटायर जेई जगदीश गुप्ता के साथ हुई । घर से पैदल बैंक में अपनी पासबुक पर इंट्री कराने जा रहे जगदीश गुप्ता को टप्पेबाजो ने रोककर उन्हें लूट की वारदातों से डराते हुए पुलिस के आदेश का हवाला देकर जेवर उतारने को कहा और उनके हाथ से जेवर लेकर कागज में लपेट कर उन्हें पुड़िया थमा दी लेकिन हाथ की सफाई का हुनर दिखाते हुए टप्पेबाज ने जगदीश गुप्ता के जेवर चेन, अंगूठी और लॉकेट पार कर दिया। जगदीश गुप्ता को जब शक हुआ तो उन्होंने 2 मोटर साइकिल से भाग रहे 4 टप्पेबाज़ों को दौड़ाया लेकिन टप्पेबाज उनके हाथ नहीं लगे। टप्पेबाजी की ये घटना बांग्ला बाजार पुलिस चौकी से महज 50 मीटर की दूरी पर दिनदहाड़े हुई घटना के बाद पुलिस कर्मी भी जगदीश को मोटर साइकिल पर बिठाकर टप्पेबाज़ों के पीछे दौड़े लेकिन टप्पेबाज हत्थे नहीं चढ़े । इंस्पेक्टर आशियाना धीरज कुमार शुक्ला का कहना है कि टप्पेबाजी का मुकदमा दर्ज कर लिया गया है सीसीटीवी कैमरों की फुटेज चेक की जा रही है । 

लूट कर डर दिखाकर बनाया शिकार

पीड़ित रिटायर बुजुर्ग जगदीश गुप्ता ने बताया कि बांग्ला बाजार पुलिस चौकी के पास उन्हें 2 लोगों ने रोका और कहा कि लूट की घटनाएं हो रही हैं पुलिस का आदेश है कोई भी जेवर पहनकर बाहर ना निकले आप जेवर उतारकर कागज में लपेट दीजिए और घर जाकर रख दीजिए। इसी बीच टप्पेबाज़ों ने हाथ की सफाई का हुनर दिखाते हुए कागज की पुड़िया में कंकड़ पत्थर लपेट कर उन्हें दे दिए। कुछ मिनट में ही शक होने पर उन्होंने जब पुड़िया खोली तो पुड़िया में कंकड़ देख कर टप्पेबाज़ों को दौड़ाया । 4 टप्पेबाज दो मोटर साइकिल पर सवार होकर भाग गए । टप्पेबाजी की घटना के बाद उन्होंने तत्काल पुलिस चौकी पर सूचना दी लेकिन टप्पेबाजो को पुलिस पकड़ नहीं पाई। बुधवार की दोपहर बांग्ला बाजार पुलिस चौकी के पास बुजुर्ग से हुई टप्पेबाजी की यह घटना पिछले 33 दिनों में छठी घटना है इससे पहले 25 सितंबर को ठाकुरगंज थाना क्षेत्र अंतर्गत परचून की दुकान पर बैठी महिला समंदर मिश्रा से नकली पुलिस कर्मियों ने चेन उतरवा ली थी । 1 अक्टूबर को ठाकुरगंज के बालागंज में ही एचडीएफसी बैंक के बाहर सरोजनी नगर के रहने वाले प्रॉपर्टी डीलर नोमान शिबली की कार से  डीज़ल टपकने का झांसा देकर टप्पेबाज ने 5 लाख से भरा बैग उड़ा लिया था यही नहीं 4 अक्टूबर को गोमती नगर में टप्पेबाज़ों ने विनीत खंड के रहने वाले बाबूराम यादव की पत्नी मंजू यादव को बेवकूफ बनाकर उनके सोने के टॉप्स ले लिए थे । 6 तारीख को मोहनलालगंज में बैंक ऑफ इंडिया के अंदर टप्पेबाज के द्वारा पुत्ती लाल की पत्नी शिव कुमारी से साढे 12 हज़ार की टप्पेबाजी की थी । यही नहीं 7 अक्टूबर को भी चिनहट के मटियारी के पास सेंट्रल बैंक आफ इंडिया के अंदर मोहम्मद रजा नाम के व्यक्ति से टप्पेबाज़ ने साढे 16 हज़ार की टप्पेबाजी की घटना को अंजाम दिया था। 33 दिनों के अंदर बुधवार की दोपहर आशियाना थाना क्षेत्र में पुलिस चौकी से महज 50 मीटर की दूरी पर टप्पेबाज़ों के द्वारा बुजुर्ग से टप्पेबाजी की घटना को अंजाम देकर फरार हो जाना और 24 घंटे बीत जाने के बाद भी आशियाना पुलिस का टप्पेबाज़ों तक न पहुंच पाना अपने आप में पुलिस की मुस्तैदी पर बड़े सवालिया निशान लगाता है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ