Subscribe Us

बढ़ गयी मुन्नवर की मुश्किलें, हाईकोर्ट ने खारिज करी जमानत याचिका


तबियत बिगड़ने पर चल रहा पीजीआई में इलाज

निखिल वाजपेई

लखनऊ। अपनी शायरी और विवादित बयानों के लिए मशहूर मुनव्वर राणा को हाईकोर्ट से झटका लगा है। इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच ने मुनव्वर राणा की जमानत याचिका को खारिज कर दिया है। इसके साथ ही गुरुवार रात उनकी तबीयत भी खराब हो गई जिसके बाद उन्हें एसजीपीजीआई में एडमिट कराया गया है। देश के जाने माने शायर मुनव्वर राना की मुश्किलें कम नहीं हो रही हैं। पहले मुकदमा, फिर बेटे को पुलिस ने गिरफ्तार किया और अब हाईकोर्ट से झटका, इन मामलों को देख कर ऐसा लग रहा है कि मुनव्वर राण की मुश्किलें बढ़ती जा रही हैं। वहीं गुरुवार को मुनव्वर की तबीयत खराब हो गई जिसके बाद उन्हें लखनऊ के संजय गांधी स्नातकोत्तर आयुर्विज्ञान संस्थान में भर्ती कराया गया है।

दिया था तालिबान पर विवादित बयान

मशहूर शायर मुनव्वर राना ने न्यूज चैनल से बातचीत में तालिबान को लेकर पूछे गए सवाल पर विवादित बयान दिया था। राना ने कहा था कि तालिबान उतने ही आतंकी हैं, जितने रामायण लिखने वाले वाल्मीकि हैं। इसके साथ ही जब राणा से सवाल किया गया कि तालिबान आतंकी संगठन है या नहीं। तो इसके जवाब में मुनव्वर राणा ने कहा था कि वाल्‍मीकि रामायण लिखते हैं, तो वह देवता हो जाते हैं। जबकि उससे पहले वह डाकू थे।

मुनव्वर की जल्द हो सकती है गिरफ्तारी

इलाहाबाद हाईकोर्ट की लखनऊ बेंच में शायर मुनव्वर राणा ने गिरफ्तारी पर रोक लगाने के लिए याचिका दाखिल की थी। जिसकी सुनवाई करते हुए हाईकोर्ट ने याचिका को खारिज कर दिया है। आपको बता दें कि बीते 21 अगस्त को मुनव्वर राणा के खिलाफ लखनऊ के हज़रतगंज कोतवाली में आईपीसी की धारा 153A, 505 (1B), 295A, एससी/एसटी ऐक्ट के तहत मुकदमा दर्ज हुआ था।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ