Subscribe Us

सैफई में लिफ्ट देने के बहाने युवती से रेप, पुलिस ने तीनों आरोपियों को दबोचा

घटना में मुख्य आरोपी सहित दो एंबुलेंस संचालक भी शामिल

सुघर सिंह 

   इटावा। मैनपुरी जिले के कुर्रा थाना इलाके के एक गांव की दो सगी बहनों को लिफ्ट के बहाने रेप किये जाने के बाद पुलिस ने तीन आरोपियों को मौका ए वारदात से गिरफ्तार कर लिया है। पकड़े गये आरोपियों में दो एम्बुलेंस चालकों के अलावा एक शातिर अपराधी भी है। पुलिस ने दोनों का मेडीकल कराया है। प्रभारी निरीक्षक सैफई  ने तीनों आरोपियों को जेल भेज दिया है। पुलिस सूत्रों के अनुसार सैफई थाना प्रभारी मो.हमीद सिद्दीकी मय फोर्स गश्त पर थे उसी दौरान पुलिस जीप के सायरन की आवाज पर तीन लोग वहाँ से भागने लगे। शक होने पर थाना प्रभारी ने गाड़ी खड़ी की तो देखा कि दुकान का आधा शटर खुला था। जब अंदर देखा तो एक युवती रोती हुई मिली। युवती ने पुलिस को पूरे घटनाक्रम की जानकारी दी। मैनपुरी जिले के थाना कुर्रा क्षेत्र के एक गांव निवासी दो सगी बहनों में से एक बहन का पति से विवाद चल रहा था जिसकी वजह से वह अपनी बड़ी बहन के साथ महिला थाना इटावा में शिकायत करने आई थी। पीड़ित बहनों ने बताया की शुक्रवार को महिला थाने इटावा में बुलाया गया था। मेरे साथ मेरी बड़ी बहन गई थी वहां मेरा पति से समझौता हो गया था। जिसके बाद हम दोनों बहने टेंपो से शाम 6 बजे सैफई आए सैफई में कुछ समय तक ऑटो का इंतजार किया जब कोई साधन ना मिलने पर अगले चौराहे पर गए तब तक अंधेरा होने लगा था। जिस पर दोनों बहनों को एक सांवले रंग का एक व्यक्ति हल्की दाढ़ी रखे हुआ था। मिला जिसका नाम बाद में हरकेश यादव पता चला जिसने हम दोनों बहनों को हमदर्दी दिखाई ओर कहा हम भी करहल के रहने बाले है। आपको हम वहां छोड़ देंगे। तो हम दोनों बहनों ने विश्वास कर लिया उसकी बात का बाद में उसने हम दोनो बहनों से कहा कि तुम लोग भूखे होगी पहले खाना खालो फिर पहुंचा देंगे। जब हम लोगों ने मना किया तो उसने हमें एक थप्पड़ मार दिया जब मेरी बड़ी बहन ने विरोध किया उसे भी मारा पीट डरा धमका कर उसके साथ जबरदस्ती करने लगा फिर हम लोगो को होटल पर ले गए उसके बाद हरकेश यादव ने अपने एक साथी अश्वनी नाम का व्यक्ति को फोन द्वारा बुला लिया जिस दौरान हम लोग खाना खा रहे थे। एक व्यक्ति दो बोतल शराब ले आया तो उन्होंने शराब हम दोनों बहनों को पिलाने का प्रयास किया। हम बहनों ने मना किया व होटल वाले के विरोध करने पर होटल वाले के साथ भी गाली गलौज करने लगे जिसके बाद उन्होंने हम दोनों बहनों को जबरन दो मोटरसाइकिल पर बैठाकर सैफई से बाहर रेलवे पुल के नीचे एक तिराहा पर ले गए जहां कुछ दुकानें व कमरे बने हुए थे। वहां पर इन दोनों के फोन पर बुलाने पर एक चार पहिया गाड़ी भी आई जिसके ड्राइवर का नाम बातचीत के दौरान साहिल पता चला था। तीनो ने हम दोनों बहनों को मारा पीटा और धमकाया कि जैसा हम लोग कहेंगे वैसा करो नहीं तो जान से हाथ धोना पड़ेगा उसके बाद फिर मेरी बड़ी बहन को एक दो थप्पड़ मारा और एक कमरे में बंद कर दिया। उसके बाद हरकेश छोटी बहिन को छत पर ले गया और जबरदस्ती मेरे साथ रेप किया। इतना ही नहीं उसने जलती हुई सिगरेट से मेरे पैरों को जलाया जब मेरे साथ रेप करने के बाद जब वह नीचे जा रहा था उसी बीच पुलिस की गाड़ी का सायरन बजा तो वह तीनों लोग हम दोनों बहनों को छोड़कर भागने लगे में स्वयं छत से नीचे आई और अपनी बड़ी बहन को कमरे से बाहर निकाला पुलिस को देकर हमारी हिम्मत बढ़ी अगर पुलिस मौके पर न पहुंचती होती तो शायद बड़ी घटना घटित हो जाती। तीनों नशे की हालत में थे।

आरोपियों के नाम इस प्रकार हैं हरिकेश यादव पुत्र महताव निवासी ग्राम झिंगूपुर थाना सैफई,अश्वनी पुत्र लाखन सिंह व साहिल पुत्र रामऔतार निवासी चौबेपुर थाना सैफई जिला इटावा।

जिसमें अश्वनी और साहिल मेडिकल यूनिवर्सिटी में प्राइवेट एंबुलेंस चलाते हैं। घटना का मुख्य आरोपी हरकेश यादव पहले भी 307 के मामले में जेल जा चुका है। जो दबंग किस्म का है। इन तीनों युवकों को जेल भेज दिया गया है। सैफई थाना प्रभारी मु० हमीद सिद्दीकी ने बताया दोनों सगी बहनों की तरफ से मिले प्रार्थना पत्र के आधार पर मामला दर्ज किया गया है गैंगरेप के आरोपियों को गिरफ्तार कर न्यायालय में पेश कर जेल भेज दिया गया है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ