Subscribe Us

सहायक अध्यापिका का सराहनीय कार्य, बच्चों को स्कूल भेजने के लिए घर घर जाकर कर रही अभिभावकों को जागरूक

   ख्वाजा खान

   सोनभद्र। बीएसए ने किया अध्यापिका के कार्य की सराहना। चोपन सोनभद्र। बेसिक शिक्षा विभाग के विद्यालयों में बच्चों को विद्यालय भेजने के लिये चोपन ब्लाक के प्राथमिक विद्यालय चेरो बस्ती की एक शिक्षिका ने एक नायाब तरीका अपनाया है। शिक्षिका ने अपने पैसे से स्कूल रिओपन का पम्पलेट बनवाकर गांव में प्रत्येक घर-घर जाकर बच्चों को विद्यालय भेजने के लिये अभिभावकों से अपील कर रही है। कोरोना के कारण करीब 16 माह बाद बंद चल रहे विद्यालय बुधवार से खुलने के बाद बच्चों की संख्या बेहद कम रही। 

   अभिभावक अभी भी अपने बच्चों को स्कूल भेजने से कतरा रहे है। ऐसे में गुरुवार को चोपन ब्लाक के प्राथमिक विद्यालय चेरोबस्ती की सहायक अध्यापिका वर्षा वर्मा ने गांव में जाकर प्रत्येक घर के बाहर प्रवेश प्रारम्भ विद्यालय व रिओपन होने का पम्पलेट चस्पा करने के साथ ही बच्चों के माता-पिता और समूह में एकत्रित लोगों को शिक्षा का महत्व समझाते हुए सरकार द्वारा दी जा रही है सुविधाओं की जानकारी दी। बच्चों का सरकारी स्कूल में दाखिला कराने के साथ भेजने के लिये प्रेरित किया। इस दौरान सहायक अध्यापिका ने लोगों को पम्पलेट भी वितरित किए जिन पर स्कूल में सरकार द्वारा दी जाने वाली सुविधाएं जैसे ड्रेस, जूते-मोजे, स्वेटर, बैग, मिड-डे-मिल, लाइट, पंखा, प्रशिक्षित शिक्षकों द्वारा शिक्षा प्रदान करना आदि अंकित है। उन्होंने लोगों को शिक्षा के प्रति जागरूक करते हुए बच्चों के शत प्रतिशत दाखिला कराने व स्कूल टाइम प्रतिदिन स्कूल भेजने की अपील किया। सहायक अध्यापिका वर्षा वर्मा का कहना है गांव के लोगों व प्रधानाध्यापिका का बहुत सहयोग मिलता है। बगैर सहयोग के टीम भावना से काम हो ही नहीं सकता। जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी हरिवंश कुमार ने शिक्षिका द्वारा किए जा रहे इस कार्य की सराहना किया। उन्होंने कहा कि विद्यालय में बच्चों की उपस्थिति शत प्रतिशत हो इसका पूरा प्रयास शिक्षकों द्वारा किया जारहा है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ