Subscribe Us

दलालों का कारनामा विक्षिप्त से फर्जी ढंग से कराया बैनामा,जमीन की बिक्री के बाद रकम को भी हड़प लिया

    नीरज केशरी

 मिर्जापुर/अहरौरा। इन दिनों नगर  मे  जमीन की बिक्री व खरीद में अहम भूमिका निभाने वाले तथाकथित दलालों के कारनामे नगर के  चट्टी चौराहों पर चर्चा का विषय बना हुआ है  ताजा मामला नगर के  बूढ़ादेई निवासी मुनव्वर पुत्र रउफ जो अर्ध विक्षिप्त है जिसका पुश्तैनी जमीन वाराणसी शक्तिनगर मार्ग स्थित प्रभा गैस एजेंसी के समीप सभी भाइयों के साथ क्रमशः उसका भी लबे सड़क जमीन है जिसका नगर में सक्रिय बिचौलियों ने बहला-फुसलाकर चुनार तहसील ले जाकर नगर के एक सेठ को जमीन की रजिस्ट्री करा दी बावजूद इसके  उनका जी नहीं भरा तो सेठ द्वारा सस्ती मिल रही जमीन की दी गई रकम को भी बिचौलियों ने हड़प लिया  वही अर्ध विक्षिप्त युवक को बिचौलियों द्वारा एक गमछा और मात्र 15 सौ रुपए देकर चलता कर दिया विक्षिप्त युवक ने घर आकर 15 सौ रुपए और गमछा मां को देखकर इधर उधर की बातें करने लगा घरवाले एवं परिजनों को शक होता देख अपने स्तर से इसकी तफ्तीश में लग गए कहते हैं ना कि इश्क और चोरी छुपे नहीं  छुपाई जाती वही यह बात नगर में जंगल की आग की तरह फैल गया परिजनों ने अपने स्तर से बिचौलियों को पंचायत के माध्यम से समझाने का भरसक प्रयास किया है। बिचौलियों द्वारा इनकार करने के बाद परिजनों ने यह मामला पुलिस तक नगर के कुछ वरिष्ठ समाजसेवियों एवं तेजतर्रार नेताओं  के माध्यम से पहुंचाया पुलिस के संज्ञान में यह मामला आने के बाद अपने स्तर से इसकी तह में जाकर तथाकथित बिचौलियों को पकड़कर थाने लाने का क्रम जारी कर दिया गया जिस पर कड़ाई से पूछताछ करने के बाद बिचौलियों ने पैसा हड़प करने की बात स्वीकारी जिस पर पुलिस ने उन्हें मुकदमा लिखने की धमकी देते हुए जमीन रजिस्ट्री कराए सेठ को भी थाने में तलब कर लिया सेठ समेत बिचौलियों ने अपनी गलती स्वीकार करते हुए हड़पी गई रकम को वापस कर अपनी गलती स्वीकारी वही रजिस्ट्री कराने वाले सेठ ने भी जमीन पुनः अर्ध विक्षिप्त के परिजनों को वापस करने का आश्वासन देकर मामले  को रफा-दफा करने की कोशिश की खबर लिखे जाने तक नगर में चर्चाओं का बाजार गर्म था वही अभी तक अर्ध विक्षिप्त युवक के परिजनों को जमीन वापस नहीं हुई है अब देखना यह है कि उस गरीब को न्याय कब तक मिलता है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ