Subscribe Us

पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर की बढ़ी मुश्किलें, हुए नजरबंद

शहर से बाहर जाने पर लगी रोक,  लखनऊ पुलिस ने थमाया नोटिस

सीएम योगी के खिलाफ चुनाव लड़ने का कर चुके है ऐलान

सत्य स्वरूप संवाददाता

लखनऊ। जबारिया रिटायर्ड आईपीएस के नाम से जाने वाले अमिताभ ठाकुर की मुश्किलें अब बढ़ती हुई नजर आ रही है। रिटायर्ड आईपीएस ने विधानसभा  चुनाव सीएम योगी के खिलाफ लड़ने की घोषणा की थी। सीएम योगी के खिलाफ चुनाव लड़ने की तैयारी कर रहे रिटायर आईपीएस अमिताभ ठाकुर को पुलिस ने शनिवार की सुबह गिरफ्तार कर लिया है। लेकिन इसकी पुष्टि किसी पुलिस अधिकारी ने नहीं की है। लेकिन अपनी गिरफ्तारी की जानकारी खुद रिटायर्ड आईपीएस ने ट्वीट के जारिए दी है। पुलिस ने गिरफ्तारी की बात से इनकार किया है, लेकिन यह कहा है कि उन्हें केवल गोरखपुर जाने से रोका गया है ना कि उनकी गिरफ्तारी की गई है।

शनिवार सुबह किया अमिताभ ने ट्वीट

बताते चलें कि, गोमतीनगर में रहने वाले रिटायर्ड आईपीएस अमिताभ ठाकुर ने शनिवार की सुबह ट्विटर के माध्यम से अपनी गिरफ्तारी की जानकारी दी है। इसके साथ ही कहा है उन्हें गोरखपुर जाने से रोका जा रहा है और उन्हें पुलिस घेरे में रखा गया है। वहीं एसीपी गोमतीनगर श्वेता श्रीवास्तव का कहना है कि अमिताभ ठाकुर पर रेप आरोपी का साथ देने का आरोप है। जिस मामले पर जांच चल रही है। उन्हें गिरफ्तार नहीं किया गया है जांच कमेटी उनपर लगे गंभीर आरोप की जांच के लिए तलब किया है। रिटायर्ड आईपीएस को जांच कमेटी के सामने पेश होना है, इसीलिए उन्हें लखनऊ से बाहर जाने से रोका गया है।

एक हफ्ते पहले करी थी सीएम के विरुद्ध चुनाव लड़ने की बात

आपको बता दें कि, भाजपा सरकार में रिटायर हुए अमिताभ ठाकुर ने एक हफ्ते पहले ही विधानसभा चुनाव सीएम योगी के खिलाफ  लड़ने की घोषणा की थी। शनिवार की सुबह अमिताभ ठाकुर गोरखपुर चुनावी जनसंपर्क बनाने के लिए जा रहे थे। इससे पहले ही एसीपी गोमतीनगर ने पुलिस फोर्स के साथ उनके घर पहुंचकर उन्हें रोक लिया। एसीपी का कहना है की रिटायर आईपीएस पर रेप पीड़िता और उसके सहयोगी के आत्मदाह के गंभीर मामले में सहयोगी की मौत के बाद पुलिस ने पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर से पूछताछ शुरू की है। आत्मदाह से पूर्व पीड़ितों ने अमिताभ ठाकुर को इसका जिम्मेदार बताया था। इसके साथ ही मुख्तार अंसारी और बलात्कार के आरोपी बसपा सांसद अतुल राय के साथ मिल कर साजिश रचने का आरोप लगाया गया था। इसी मामले की जांच कमेटी द्वारा अमिताभ ठाकुर से पूछताछ करेगी। फिलहाल उन्हें अभी गिरफ्तार नहीं किया गया है। लेकिन लखनऊ से बाहर जाने पर रोक लगाई गई है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ