Subscribe Us

पहले नज़रबन्द अब गिरफ्तार हुए पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर, हजरतगंज पुलिस ने मामला दर्ज कर किया गिरफ्तार

अमिताभ पर लगे थे संगीन आरोप, पीड़िता व उसके गवाह द्वारा न्यायालय गेट पर आत्महत्या करने का मामला

बढ़ी आईपीएस अमिताभ की मुश्किलें, बाहुबली पर भी शिकंजे की तैयारी

सत्य स्वरूप संवाददाता

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार में शुक्रवार को लखनऊ हजरतगंज पुलिस ने शुक्रवार को पीड़िता व उसके गवाह द्वारा न्यायालय के गेट पर सामूहिक आत्महत्या करने के मामले में आरोपी सांसद अतुल राय व पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर पर मामला दर्ज करते हुए शाम को अमिताभ को गिरफ्तार कर लिया। इससे पहले शुक्रवार सुबह ही उन्हें परिवार समेत नजरबंद किया गया था। इसके बाद ही हजरतगंज के एसएसआई की तहरीर पर मामला दर्ज करने की प्रक्रिया शुरू की गई और शुक्रवार शाम अमिताभ को गिरफ्तार कर लिया गया। उनकी गिरफ्तारी की पुष्टि पत्नी नूतन ने करी है। लगातार अपने भड़काऊ बयानों सरकार विरोधी कार्यो के चलते उन्हें गृह मंत्रालय से वीआरएस दे दिया गया था। बीते दिनों अमिताभ के सीएम योगी के खिलाफ चुनाव लड़ने के ऐलान के बाद से वो लगातार सुर्खियों में बने हुए थे। 22 अगस्त से अभी तक अमिताभ को दो बार नजरबंद किया गया और आखिरकर शुक्रवार को उनकी गिरफ्तारी पर लगी अटकलों में भी विराम लग गया।

क्या है अमिताभ पर आरोप

एक दुष्कर्म पीड़िता ने सांसद अतुल राय के विरुद्ध लंका थाना वारामसी में मामला दर्ज कराया था। बीते दिनों पीड़िता व उनके गवाह ने दिल्ली उच्चतम न्यायालय के गेट पर सामूहिक रूप से जीवनलीला समाप्त कर ली थी। दरसल बीते दिनों ही पीड़िता ने उच्च अधिकारियों से लेकर न्यायलय तक में गुहार लगाई थी। उसका आरोप था की सांसद अतुल राय द्वारा दाबाव में लेने के लिए उसके ही गवाहों इत्यादि पर सात मुकदमे दर्ज कर दिए। पीड़िता का आरोप था कि पूर्व आईपीएस अमिताभ ठाकुर भी उसको।बदनाम करने की नीयत से गलत खबरें फैला रहे है।  बाहुबली सांसद के पक्ष में वो पीड़िता के गवाह का नाम एक गुंडे से जोड़कर चला रहे है जिससे उसकि छवि धूमिल हो रही है। ऐसे ही तमाम आरोप पीड़िता ने अमिताभ ठाकुर व सांसद अतुल राय पर लगाते हुए बीते दिनों दिल्ली कोर्ट के गेट पर अपने गवाह संग आत्महत्या कर ली थी और इसका लाइव प्रसारण  फेसबुक पर किया था तभी से इस मामले ने तूल पकड़ रखी थी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ