Subscribe Us

योगी से निराश पुश्तैनी टिम्बर व्यापारियो ने अखिलेश को सौपा ज्ञापन

   सत्य स्वरूप संवाददाता

   लखनऊ। उत्तर प्रदेश टिम्बर एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष मोहनीश त्रिवेदी द्वारा समाजवादी पार्टी कार्यालय में प्रदेश व्यापी प्रदर्शन के माध्यम से उत्तर प्रदेश के भावी मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव जी को ज्ञापन सौपा गया। ज्ञापन लेने के पश्चात भावी मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव जी ने पुश्तैनी टिम्बर व्यापारियों को आश्वासन देते हुए कहा कि 2022 में समाजवादी पार्टी की सरकार बनने पर उत्तर प्रदेश के सभी पीड़ित व्यापारियों के साथ न्याय होगा। श्री त्रिवेदी ने बताया कि उत्तर प्रदेश के पुश्तैनी टिम्बर व्यापारी जिन्हे 2017 में भाजपा की सरकार बनते ही उजाड़ दिया गया था व तभी से उत्तर प्रदेश टिम्बर एसोसिएशन के बैनर तले लखनऊ में दो दर्जन से ज्यादा व दिल्ली के जंतर मंतर पर मन का दर्द के नाम से प्रदर्शन के माध्यम से पीड़ित टिम्बर व्यापारियों हेतु माननीय प्रधानमंत्री जी, गृहमंत्री जी,मुख्यमंत्री जी सहित वन मंत्री से  न्याय की मांग कर चुके है पर पुश्तैनी टिम्बर व्यापारियों से उनका हक छीन कर धनबल व बाहुबल वालो को शराब की तर्ज पर ई लॉटरी के माध्यम से लाइसेंस दे दिया गया जिसके विरूद्ध संगठन ने माननीय एनजीटी कोर्ट में परिवाद दाखिल किया था जिसमें सुनवाई के पश्चात माननीय एनजीटी ने आदेश पारित करते हुए ई लॉटरी को खारिज कर दिया था जिससे स्पष्ट है कि संगठन के आरोप एक दम सही थे। वहीं प्रदेश सलाहकार आसिम मार्शल ने कहा कि आज संगठन द्वारा उत्तर प्रदेश के मौजूदा माननीय मुख्यमंत्री जी से पिछले 4.5 साल के संघर्षों के पश्चात निराश हो कर भावी मुख्यमंत्री श्री अखिलेश यादव जी को ज्ञापन सौपा गया। मीडिया प्रभारी नदीम अहमद ने कहा कि आज उत्तर प्रदेश की तरक्की के  पुश्तैनी टिम्बर व्यापारी अपने हांथ में "पुश्तैनी टिम्बर व्यापारियों ने ठाना है.. 2022 में अखिलेश सरकार को लाना है" " कृष्णा कृष्णा।। हरे हरे।। अखिलेश भईया घरे घरेे।। "दुखी जनता की एक ही पुकार..2022 में बने अखिलेश सरकार" जैसे स्लोगन लिखी हुई तख्तियां लेे कर तख्ता पलट के लिए लग चुके है। वहीं प्रदेश सचिव रज्जन खान व रूप यादव ने कहा कि आज जनता अपने आपको ठगा सा महसूस कर रहीं है और अखिलेश सरकार का आज की सरकार से आंकलन करते हुए मन बना चुकी है बस समय का इंतजार कर रही है उत्तर प्रदेश को तरक्की के रास्ते पर ले जाने वाले भावी मुख्यमंत्री को वापस लाने के लिए। 

प्रदेश व्यापी प्रदेश में अमरोहा से सरफराज हुसैन, मोहमद रजा, मेरठ से अमीरुद्दीन, सुहेल अहमद, आसिफ भाई, अम्बेडकर नगर से  राकेश वर्मा,दिलीप वर्मा,सुल्तानपुर से सच्चिदानंद तिवारी, सरवर,खुर्शीद, अयोध्या से ठाकुर प्रसाद, राम मूरत गुप्ता,गाजियाबाद से मोहमद आबिद, सुरेन्द्र कुमार,बस्ती से रशीद अहमद,गोरखपुर से डोरेलाल, लखनऊ से प्रदेश सचिव रूप यादव, सगीर, सुभाष,अमरेन्द्र,मुन्ना, रामभजन आदि सहित सम्पूर्ण उत्तर प्रदेश के सैकड़ों पदाधिकारी मौजूद रहे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ