Subscribe Us

बाराबंकी : फिर गरमाया खालिदा फजली कब्रिस्तान का मामला, दोनो पक्षों ने लगाए एक दूसरे पर आरोप

   संवाददाता

 बबाराबंकी। नगर के पीरबटावन नई बस्ती में आने वाले खालिदा फजली कब्रिस्तान का मामला एक बार फिर से सुर्खियों में है। कब्रिस्तान कमेटी के सदर व सभासद मोहम्मद नईम ने पुलिस अधीक्षक को प्रार्थना पत्र देकर समाज में छवि धूमिल व बदनाम करने को लेकर मो आदिल व रिजवान मुस्तफा के विरुद्ध मुकदमा दर्ज करने की मांग की है।

    मो नईम ने प्रार्थना पत्र में कहा कि वो कमरियाबाग कब्रिस्तान कमेटी के सदर एवं वार्ड मेम्बर है, समाज में उनकी अच्छी छवि है। कुछ लोगो की नजर उस जमीन पर है जो उसमे अपना कब्ज़ा करना चाहते हैं। नईम का आरोप है कि कामरियाबाग कब्रिस्तान का 3 लाख रूपये चंदा इन लोगो ने जनता से वसूल किया जो अपने पास रखें रहे, कमेटी के पास जमा नहीं किया है। बार-बार मांगने पर षड्यंत्र के तहत कुछ को साथ लेकर गलत तथ्यों का आरोप मुझपर लगाया। इस संबंध में इन लोगों के पास कोई सबूत नहीं है ये लोग तरह तरह के हथकंडे अपना रहे हैं ताकि मेरी छवि धूमिल हो जाए।

  आगे नईम ने आरोप लगाए हैं कि टहलका टुडे के रिजवान मुस्तफा को मिलाकर एक षड्यंत्र के तहत दिनांक 17-08- 2021 को अपने यूट्यूब चैनल व व्हाट्सएप पर मेरे खिलाफ खबर चला कर समाज में मेरी बेज्जती की जा रही है। मुझे बहुत अफसोस हुआ है मेरी मानसिक क्षति हुई है इससे पूर्व इस चैनल पर रिजवान ने मेरे खिलाफ यह आरोप लगाया कि मैंने 5 करोड़ की हेराफेरी की है। मैंने  जब ज्यादा विरोध किया तो उसने अपनी गलती मान कर माफी मांगी लेकिन मैंने इसकी सूचना थाने पर देकर मुकदमा कायम कराया। पुनः यह चैनल मुझे बदनाम कर रहा है जबकि उसके तथ्य किसी भी तरह से सत्य नहीं है। मोहम्मद नईम का आरोप है कि ये लोग कमरिया बाग कब्रिस्तान में गैरेज बनाने के लिए जमीन की मांग कर रहे हैं और ना देने पर मुझको व कमेटी के लोगों को बदनाम कर रहे हैं इसलिए इन लोगों के विरुद्ध मुकदमा कायम कर कार्यवाही किया जाना अति आवश्यक है।

   आपको अवगत करा दे कि कुछ दिन पूर्व कब्रिस्तान के आसपास रहने वाले लोगों ने अतिरिक्त मजिस्ट्रेट को ज्ञापन सौंप कर कब्रिस्तान कमेटी के सदस्यों पर जमीन बेचने व गलत तरीके से समझौता करने का आरोप लगाकर सदर नईम व अन्य सदस्यों के विरुद्ध कार्यवाही की मांग की थी। जिसकी खबर पत्रकार रिजवान मुस्तफ़ा ने अपने यूट्यूब चैनल पर प्रमुखता से दिखाई थी। इसके अलावा एक दैनिक समाचार पत्र में भी ये खबर प्रकाशित हुई थी। इसी को लेकर इतना होहल्ला हो रहा है। अब आगे ये देखना होगा कि कौन सही है और कौन गलत! जांच के बाद सारी स्थिति साफ हो जाएगी। 

  

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ