Subscribe Us

यूपी 2022 विधानसभा चुनाव में ब्राह्मण मत ही होगा निर्णायक : पंडित राजेन्द्र नाथ त्रिपाठी

  अमन मिश्रा

लखनऊ। उत्तर प्रदेश में योगी सरकार में जिस तरह ब्राह्मणों का उत्पीड़न शोषण अपमान तिरस्कार किया जा रहा है उसका असर आगामी 2022 में होने जा रहे विधानसभा के चुनाव में स्पष्ट रूप से देखने को मिलेगा। यह जानकारी भारत के ब्राह्मण समाज की सबसे बड़ी संस्था अखिल भारतीय ब्राह्मण महासभा रा के राष्ट्रीय अध्यक्ष यूपी रत्न से सम्मानित पंडित राजेंद्र नाथ त्रिपाठी ने एक भेंटवार्ता में दी!  राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री राजेंद्र नाथ त्रिपाठी ने कहा कि बहुत बड़ी उम्मीद और आशा रख ब्राह्मण समाज ने भाजपा को केंद्र से लेकर प्रदेश में पूर्ण बहुमत की सरकार बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाया! किन्तु भाजपा ने सारे उम्मीदों पर पानी फेर दिया। जिस भी दल की सरकार ब्राह्मणों ने बनवाई सभी ने समाज के साथ छलावा व धोखा किया। बसपा से नाराज  ब्राह्मणों ने सपा को विकल्प बनाया, वहां धोखा मिला! सपा से नाराज होकर भाजपा को विकल्प चुना जिसने ब्राह्मण उत्पीड़न, अपमान, तिरस्कार, हत्या के अब तक के सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए। इस प्रकार ब्राह्मण लगातार धोखा व चोट खाने से किसी भी दल व नेता पर अपना भरोसा नहीं बना पा रहा है!  श्री त्रिपाठी ने कहा कि सपा बसपा और भाजपा के शासनकाल में जहां भी ब्राह्मणों के साथ अन्याय, अत्याचार, हत्या, उत्पीड़न, शोषण हुआ है पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने के लिए अखिल भारतीय ब्राह्मण महासभा रा ही खड़ा मिली है! संगठन व समाज की प्रबल मांग पर ब्राह्मण महासभा ने राजनैतिक विकल्प के रूप में अखिल भारतीय सर्वजन हित पार्टी ( राजनैतिक) का गठन किया जो 2022 के विधानसभा चुनाव में उत्तर प्रदेश के लगभग सभी सीटों पर अपना प्रत्याशी खड़ा करने का निर्णय लिया है !अच्छी सफलता प्राप्त हो इसके लिए 103 ब्राह्मण बाहुल्य सीटों पर संगठन व पार्टी ने अपना कार्य तेज कर दिया है। हमें अपने ब्राह्मण समाज के साथ-साथ अन्य समाज के गरीब, कमजोर, प्रताड़ित ,उपेक्षित लोगों से भी भारी उम्मीद है ,कि धोखेबाज मारी च  रूपधारी सपा, बसपा और भाजपा के लाली पाप और छलावा का शिकार ना होते हुए अखिल भारतीय सर्वजन हित पार्टी को अपना राजनैतिक विकल्प के रूप में पूर्ण समर्थन व सहयोग करेंगे।  

  राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री राजेंद्र नाथ त्रिपाठी ने बताया कि सर्वजन हित पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पंडित श्याम नारायण चौबे व प्रमुख महासचिव प्रोफेसर वीरेंद्र मिश्र बिरही अपनी टीम के साथ प्रदेश का सघन दौरा कर रहे हैं। आगामी 23 सितंबर को नोएडा (गौतम बुध नगर ) में पश्चिमी उत्तर प्रदेश का विशाल सम्मेलन होने जा रहा है । जिसमें इसका उद्घोष होगा, इस कार्यक्रम में करीब 50,000 से अधिक समाज के लोगों को आने की संभावना है। इस तरह के उत्तर प्रदेश में जौनपुर, चित्रकूट, गोंडा, लखनऊ में भी बड़े कार्यक्रम संगठन द्वारा आयोजित किए जाएंगे। किसी बड़े दल से समझौता व गठबंधन के सवाल पर श्री त्रिपाठी ने कहा कि अब किसी बड़े दल से समर्थन, समझौता, गठबंधन अपनी शर्तों के आधार पर ब्राह्मण महासभा करेगी ताकि समाज के साथ धोखा ना हो सके।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ