Subscribe Us

चार वर्षों से नहीं आते सफाईकर्मी,संक्रामक बीमारियों को दावत दे रहीं बन्द नालियां

बजबजाती हुई नालियों में पल रहे लार्वा,नहीं हो रही फॉगिंग

सत्य स्वरूप संवाददाता

बौंडी, बहराइच।
सूबे की योगी सरकार संचारी रोगों के नियंत्रण व रोकथाम विशेष साप्ताहिक अभियान चला रही है। बावजूद इसके फखरपुर विकास खंड के ऐतिहासिक व पौराणिक मान्यता वाले राजा रेहुवा ग्राम पंचायत में पिछले चार वर्षों से सरकार का स्वच्छ भारत मिशन व स्वच्छता मिशन महज एक छलावा है। यहां चार वर्षों से सफाईकर्मी की तैनाती नहीं है। सावन माह शुरू हो चुका है गांव के बीच रास्ते पर होकर ही श्रद्धालु सागरनाथ मंदिर जल चढ़ाने के लिए जाते हैं उनको मुख्य मार्ग पर गंदे नाले के पानी से होकर जाना पड़ता है। नियमित सफाई न होने से गांव की गलियों में गंदगी अटी पड़ी है। नाली जाम होने से रास्ते पर गंदा पानी बह रहा है। आवागमन करने वालों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। ग्रामीणों ने चेतावनी दिया है कि समय रहते नालियों की सफाई नहीं कराई गई तो वो आंदोलन को बाध्य होंगे।सफाई न होने से गांव की गलियों में चारों तरफ कूड़ा-कचरा फैला हुआ है। जाम होकर नालियां बजबजा रही हैं। पानी निकासी अवरुद्ध होने से रास्ते पर गंदा पानी बह रहा है।पानी में संक्रामक रोगों के वाहक लार्वा पैदा हो रहे हैं, इससे लगातार संक्रामक बीमारियां फैल रही हैं।जलभराव से आवागमन में ग्रामीणों को परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। बदबू से लोगों को संक्रामक बीमारियों का भय सता रहा है। मच्छरों की संख्या में वृद्धि होने से लोग चैन की नींद नहीं सो पा रहे हैं। जिससे ग्रामीणों में रोष गहराता जा रहा है। गांव निवासी जयशंकर ओझा ने बताया कि अगर नालियों की सफाई नहीं कराई गई तो भीषण जलभराव की वजह से आवागमन दुश्वार हो जाएगा। भूपेंद्र सिंह ने बताया कि अगर समय रहते नालियों की सफाई नहीं कराई तो वे सड़क पर उतरने को बाध्य होंगे।

जल्द ही नालियों की सफाई होगी : ए डी ओ

प्रयास किया जा रहा है कि गांवों में जल-जमाव की समस्या न रहे।  आबादी के आधार पर सफाई कर्मचारी की नियुक्ति हो रही है। बहुत जल्द ही नालियों की सफाई करवा दी जाएगी।
गुलामुद्दीन जिलानी, एडीओ पंचायत फखरपुर

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ