Subscribe Us

सेना में भर्ती कराने के नाम पर करोड़ों की ठगी का खुलासा, चार गिरफ्तार

   सत्य स्वरूप न्यूज़ नेटवर्क

  शाहजहांपुर। शाहजहांपुर पुलिस को आज बड़ी सफलता मिली सेना में फर्जी दस्तावेज के जरिए भर्ती कराने के नाम पर करोड़ों की ठगी करने वाले अंतर राज्य गिरोह के 4 लोग गिरफ्तार 5 लोग फरार लैपटॉप मोरे मार्कशीट सर्टिफिकेट व अन्य सामग्री बरामद।

नबी हसन ने तिलहर थाने पर प्रार्थना पत्र देकर बताया कि सेना में भर्ती के नाम पर भूपेंद्र सिंह पुत्र रामपाल सिंह तथा अभिषेक सिंह पुत्र भूपेंद्र सिंह निवासी थाना तिलहर को मकान वह जमीन गिरवी रखकर ₹370 हज़ार दिए थे मगर सेना में भर्ती नहीं कराने पर पैसा वापस मांगा गया तो स्पोर्ट्स का फर्जी सर्टिफिकेट बनाकर गवालियर ले जाकर फर्जी भर्ती प्रतिक्रिया करा कर उलझा रखा गया और पैसा वापस नही किया गया।

  एस आनन्द पुलिस अधीक्षक के निर्देश पर प्रकरण की छानबीन की गई जिसमें प्रभात, अभिषेक सिंह, कुलदीप सिंह रजबत, कमलेश सिंह, अभिषेक( सरगना )प्रवीन यादव, शैलेंद्र, रोहित सिकरवार उर्फ आला  के नाम प्रकाश में आए 6 जुलाई को भूपेंद्र सिंह के घर पर दबिश देकर पुलिस ने भूपेंद्र सिंह, कुलदीप सिंह रजबात निवासी ग्राम सुल्तान सिंह पूरा थाना उमरी जिला भिंड मध्य प्रदेश, प्रभात थाना बिलसंडा जनपद पीलीभीत, कमलेश सिंह ग्राम महोलिया मुंडी थाना सिधौली को गिरफ्तार किया उनके ऑफिस में उनके कब्जे से फर्जी अभिलेख  लैपटॉप सहित अन्य सामग्री बरामद की गई कार्रवाई कर चारों लोगों को जेल भेजा जा रहा है।

पूछताछ में प्रभात  बिलसंडा जनपद पीलीभीत की बुआ का लड़का अभिषेक निवासी ग्राम सुल्तान सिंह का पूरा थाना उमरी जिला भिंड मध्य प्रदेश ने ग्वालियर में स्पोर्ट्स एंड गेम फेडरेशन का ऑफिस बना रखा है जहां से नेशनल स्तर के स्पोर्ट्स सर्टिफिकेट तैयार करता है तथा आयु निकल जाने के बाद स्पोर्ट्स कोटे से सेना में भर्ती कराने के नाम पर लोगों से मोटी रकम लेकर ठगी करता है तथा प्रभात को इस काम में अपने साथ मिलाकर पीलीभीत व  शाहजहांपुर से बेरोजगार युवकों को फंसा कर पैसा ठगा जाता है प्रभात ने यहां पर अपने तहे रे भाई शैलेंद्र  बिलसंडा जनपद पीलीभीत, प्रवीण यादव थाना निगोही जनपद शाहजहांपुर,भूपेंद्र सिंह,अभिषेक  निवासी थाना तिलहर जनपद शाहजहांपुर को जोड़कर क्षेत्र से काफी बेरोजगार नव युवकों से 3 से 6 लाख तक वसूली की तथा प्रति कैंडिड 3 लाख के हिसाब से अभिषेक को ग्वालियर भेजा गया,जिन लोगों से पैसा लिया गया उन्हें भर्ती के नाम पर कई गाड़ियों द्वारा गवालियर ले जाकर होटल के कमरों में ठहराया गया वहीं पर किसी स्कूल के ग्राउंड में उनकी फर्जी माप जोक कराई गई और उन्हें रातोंरात वहां से उनके घर भेज दिया जाता है फिर वह लोग फोन करते हैं तो टालमटोल कर उनके द्वारा दिया गया पैसे को हड़प लिया जाता है।

एस आनन्द पुलिस अधीक्षक ने बताया कि फर्जी दस्तावेज के सहारे सेना में भर्ती के नाम पर ठगी करने वाले अंतरराज्य गिरोह का पुलिस ने खुलासा कर 4 लोगों को गिरफ्तार किया है व पांच फरार हैं जिनकी गिरफ्तारी के लिए टीमें लगी  हुई है उनको जल्द गिरफ्तार कर लिया जाएगा इस गैंग का जो सरगना है अभिषेक वह गवालियर में रहता है उसने एक स्पोर्ट्स कॉलेज खोल रखा है वहां से वह फर्जी प्रमाण पत्र बनाता है इसके साथ चार अन्य लोग प्रवीण, शैलेंद्र, अभिषेक, रोहित इनके तार रांची में भी जुड़े हैं वहां से भी अभिषेक रांची से भी कुछ लोग को जुड़े हैं जो भोले-भाले लोग होते हैं बेरोजगार उनको झांसा देकर स्पोर्ट्स कार्ड में आर्मी में भर्ती कराने के नाम पर छह लाख पहले वसूल लिए जाते हैं इनके ओरिजिनल मार्कशीट लेकर रख लेते हैं फिर उनको ले जाकर 10 से 12 दिन कैरोटीन करके रखा जाता है फिर 34 लोगों का बैच बनता है  फिर जॉइनिंग होती है इस तरह के बहाने करके उन्हें वापस घर भेज दिया जाता है कुछ के पैसे मिल जाते हैं जिसमें कुछ के पैसे अटक जाते हैं तो अटक ही जाते हैं  इसमें अकेले प्रभात ने   87 लाख रुपए ठगी करके भूपेंद्र को दिए हैं ठगी का जो वैल्यू है वह करोड़ों में हो सकता है अभिषेक के लिए टी में गई हुई है गिरफ्तार लोगों पर गैंगस्टर सहित इनकी संपत्ति भी जप्त करने की कार्रवाई की जाएगी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ