Subscribe Us

पार्क में ट्रांसफार्मर लगाने को लेकर अंबेडकर राष्ट्रीय अधिवक्ता मंच ने जिलाधिकारी को सौपा ज्ञापन

   सगीर अमान उल्लाह

बाराबंकी। सतरिख नाका के चौराहे के सुंदरीकरण के नाम पर बिजली के ट्रांसफार्मर को हटाकर प्रशासन द्वारा डॉक्टर अंबेडकर पार्क में लगाने को लेकर डॉक्टर अंबेडकर राष्ट्रीय अधिवक्ता मंच का एक प्रतिनिधि मंडल जिलाधिकारी से मिलकर ज्ञापन पत्र सौंपा। जिला संयोजक आरपी गौतम एडवोकेट ने कहा कि  नेताओं के प्रभाव में प्रशासन ने बिना कुछ सोचे समझे बिजली के ट्रांसफार्मर को पार्क की बाउंड्री के अंदर यह कहकर लगा दिया गया की चौराहे के सुंदरीकरण मैं ट्रांसफार्मर बाधा है, पार्क के बाई तरफ लोक निर्माण विभाग की भूमि पर अवैध तरीके से  निर्माण है इस अवैध निर्माण के कारण चौराहे पर राहगीरों को भयंकर जाम की समस्या का सामना करना पड़ता है प्रशासन द्वारा यदि अवैध निर्माण को हटा दिया जाए तो निश्चित रूप से राहगीरों को जाम की समस्या से निजात मिल जाएगी, चौराहे का सुंदरीकरण हो जाएगा और बिजली के ट्रांसफार्मर को भी पार्क के बजाय दूसरी तरफ लगाया जा सकता है,   सड़क का मलवा खोदकर पार्क के अंदर डाला गया है जो बहुत ही निंदनीय, शर्मनाक है केवल बाबासाहेब आंबेडकर सहित उनके मानने वाले हजारों हजारों अनुयायियों को अपमानित करने की सोची समझी साजिश है प्रशासन के इस तरह के निंदनीय कार्य से अधिवक्ताओं जनों में काफी आक्रोश व्याप्त है। ज्ञापन पत्र जिलाधिकारी को देकर मांग की गई है कि तत्काल डॉक्टर अंबेडकर पार्क मैं लगाया गया बिजली का ट्रांसफार्मर हटवाया जाए, पार्क के बाएं तरफ लोक निर्माण विभाग की भूमि किया गया अवैध निर्माण हटवा कर बिजली के ट्रांसफार्मर को वहीं पर लगाया जाए, पार्क के अंदर मलवा गलत तरीके से डाल ले वालों के विरुद्ध कड़ी कार्यवाही की जाए, यदि कार्यवाही नहीं हुई तो हजारों लोग इस मुहिम को लेकर जिले से लेकर लखनऊ तक जन आंदोलन करने को बाध्य होंगे।
ज्ञापनपत्र देने वालों में प्रमुख रूप से आरपी गौतम एडवोकेट, संतराम गौतम एडवोकेट ,विनय कुमार पाल एडवोकेट,के के गौतम एडवोकेट, राम सजीवन एडवोकेट ,कमलेश कुमार एडवोकेट ,राकेश कुमार राणा एडवोकेट, मंसाराम चौधरी एडवोकेट, कृष्ण वीर सिंह यादव, सतीश कुमार गौतम, अनूप कुमार गौतम, अनिल गौतम, सहित दर्जनों अधिवक्ता साथियों ने जिलाधिकारी महोदय से मिलकर तत्काल कार्यवाही की मांग किया है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ