Subscribe Us

बाराबंकी : प्रेमी के साथ मिलकर की थी पति की हत्या, गिरफ्तार

   सगीर अमान उल्लाह

  जैदपुर/बाराबंकी। जैदपुर थानान्तर्गत ग्राम बोजा की हरिजन बस्ती में रहने वाले जगन्नाथ गौतम की बीते 17 जुलाई को गला दबाकर हत्या कर दी गयी थी। जगन्नाथ के भाई सत्यनाम गौतम ने थाना जैदपुर में जगन्नाथ की पत्नी कमल देवी उर्फ सुनीता और उसके प्रेमी मेराज के खिलाफ तहरीर दी थी।

  तहरीर पर संज्ञान लेते हुए पुलिस अधीक्षक यमुना प्रसाद द्वारा घटना हत्या में शामिल अपराधियों की गिरफ्तारी का आदेश दिया गया। अपर पुलिस अधीक्षक दक्षिणी मनोज कुमार पाण्डेय व क्षेत्राधिकारी सदर रामसूरत सोनकर,प्रभारी निरीक्षक धर्मेंद्र सिंह रघुवंशी नेतृत्व में पुलिस टीम का गठन किया गया। 20 जुलाई को घटना में नामजद अपराधी कमला देवी उर्फ सुनीता पत्नी जगन्नाथ व मेराज पुत्र मो0अनवर निवासी ग्राम टिकरा को गिरफ्तार किया गया।

   पूछताछ में सुनीता ने बताया कि मेरा अवैध सम्बन्ध मेराज से 6-7 माह से था। मेरे पति जगन्नाथ को काम करने के लिए मेराज ने राजस्थान भेजवाया था। इसी समय मेरी व मेराज की नजदीकियां बढ़ गयी। एक बार मेरे लड़के ने मुझे मेराज के साथ आपत्तिजनक स्थिति में देख लिया था और इस बात को मेरे लड़के ने मेरे पति व घरवालों को बताया था जिससे घरवालो ने मेराज के घर आने-जाने पर रोक लगा दी थी।  इस सम्बन्ध की जानकारी गाँव वालो को भी हो गयी थी। मेरे पति ने शराब पी और अपने दोस्तों से कहा कि मेराज को मारकर रास्ते से हटा दिया जाये, मेराज के कारण मेरी बहुत बदनामी हो रही है। यह बात मैंने मेराज से बतायी तो उसने मेरे पति को रास्ते से हटाने का प्लान बना लिया और घटना वाले दिन जब घरवाले सो गये तो मेराज उसी रात को मेरे घर आया।  फिर मैने और मेराज ने मिलकर अपने पति की गला दबाकर हत्या कर दी। हत्या को दुर्घटना का रूप देने के लिए मेराज और मै अपने पति जगन्नाथ को घर के अन्दर ले गयी तथा बिजली बोर्ड से एक तार निकाल कर पैर में छुआ दिया जिससे लोगों को यह लगे कि जगन्नाथ बिजली के करंट से मर गया।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ