Subscribe Us

गरीबों के मसीहा थे स्वर्गीय रामसेवक यादव : सैय्यद आदिल काजमी


मो रईस अंसारी

 बाराबंकी। सिरौलीगौसपुर के अंतर्गत कस्बा बदोसराय में पूर्व सपा नेता रामसेवक यादव के जन्मदिन के अवसर पर अल्पसंख्यक सभा जिला सचिव सैय्यद आदिल काजमी  के नेतृत्व में विनोद कुमार यादव के द्वारा माल्यार्पण किया गया।

आज समाजवाद के पुरोधा और पर्याय स्व रामसेवकयादव जी का जन्म दिवस है उनका नाम किसी परिचय का मोहताज नही समाजवाद का इतिहास इस अद्वितीय योद्धा का जिक्र किये बिना नही लिखा जा सकता। आज के दौर में जब समाजवाद संक्रमण काल से गुजर रहा है पूँजीवाद चरम पर है तो ऐसे में बाबूजी की विचार धारा और उनका व्यक्तित्व दोनो महत्वपूर्ण हो जाते हैं।

उन्होंने कभी स्वार्थ और अहंकार को स्वयम् पर हावी नही होने दिया जनमुद्दों को उठाकर वो जनता के नायक बने। गरीबो पिछडो दलितों मुसलमानो में आज भी उनको लेकर एक अद्वितीय सम्मान है वो चाहते तो उस दौर में अपने करीबियों या परिवार को अपनी राजनैतिक विरासत सौंप सकते थे और यदि वे ऐसा करते तो शायद उप्र का इतिहास कुछ और होता लेकिन वो विचारधारा को महत्व देते थे परिवार को नही।

उन्होंने परिवार के लिए नही देश और जनता के लिए जीवन जिया।आज उनको औपचारिकता वश याद तो किया जाता है और शायद किया भी जाएगा लेकिन जिस समाजवाद का सपना उन्होंने लोहिया जी के साथ देखा था उससे शायद अभी समाजवादी आंदोलन भटक रहा है समाजवादी विचारधारा को मजबूत करने क लिए  बाबूजी के सिद्धांतो की ओर लौटना ही पड़ेगा।

क्योंकि सिद्धान्तों से समझौता करके दल(शरीर) तो रह जायेंगे लेकिन विचारधारा यानी आत्मा के बिना दल(शरीर)एक लाश की तरह ही रहेगा। इस मौके पर विनोद कुमार यादव पूर्व जिला पंचायत सदस्य मोहम्मद तकी आदि लोग मौजूद रहे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ