Subscribe Us

समाजसेवियों ने पत्रकार दानिश सिद्दीकी को अर्पित की श्रद्धांजलि

   सत्य स्वरूप संवाददाता

शाहजहांपुर यूपी। भारतीय पत्रकार दानिश सिद्दीकी की पिछले दिनों अफगानिस्तान में आतंकवादियों द्वारा हत्या कर दी गई थी। उनकी खबर सुनते ही देश की पत्रकारों व आम जनमानस में शोक की लहर दौड़ गई। पत्रकार दानिश सिद्दीकी को एहसास सोशल वेलफेयर सोसाइटी की टीम ने कैंडल मार्च निकालकर दो मिनट का मौन रख कर श्रद्धांजलि अर्पित की।

   अफगानिस्तान के हिंसाग्रस्त कंधार में जारी खून संघर्ष के बीच एक भारतीय पत्रकार की हत्या कर दी गई । अफगानिस्तान के राजदूत फरीद ममुंडजे ने शुक्रवार को सूचना दी कि कंधार में गुरुवार को भारतीय फोटो जर्नलिस्ट दानिश सिद्दीकी की कवरेज के दौरान हत्या कर दी गई। वह कंधार में अफगान सुरक्षा बलों के साथ वहां के हालातों की रिपोर्टिंग कर रहे थे। समाचार एजेंसी रॉयटर्स से जुड़े फोटो जर्नलिस्ट दानिश सिद्दीकी पुलित्जर पुरस्कार विजेता थे। इससे पहले 13 जुलाई को भी भी दानिश पर हमला हुआ था, जिसमें वह बाल-बाल बचे थे।

  अफगानिस्तान के राजदूत फरीद ममुंडजे ने ट्वीट किया,कंधार में एक दोस्त दानिश सिद्दीकी की हत्या की दुखद खबर से बहुत परेशान हूं। भारतीय पत्रकार और पुलित्जर पुरस्कार विजेता अफगान सुरक्षा बलों के साथ कवरेज कर रहे थे। मैं उनसे 2 हफ्ते पहले उनके काबुल जाने से पहले मिला था। उनके परिवार और रायटर के प्रति संवेदना।'

    पुलित्जर विजेता ईमानदार और बेखौफ पत्रकार दानिश सिद्दीकी की अफगानिस्तान में आतंकियों के द्वारा हत्या कर दी गई थी एहसास सोशल वेलफेयर सोसाइटी की टीम ने पत्रकार दानिश सिद्दीकी को श्रद्धांजलि देने के लिए इस्लामिया इंटर कॉलेज से शहीद स्तंभ तक कैंडल मार्च निकालकर पत्रकार दानिश सिद्दीकी को श्रद्धांजलि अर्पित की इस दौरान असलम खान ने कहा कि आतंकवादियों ने देश के ईमानदार और निडर पत्रकार दानिश सिद्दीकी की हत्या कर अपनी कायरता का सबूत दिया है मुमताज अली ने कहा कि पत्रकार देश का चौथा स्तंभ है पत्रकार अपनी जान की परवाह किए बगैर सच को सामने लाने का काम करता है आतंकवादियों ने एक बहादुर पत्रकार दानिश सिद्दीकी की हत्या कर दी देश उनके कभी नहीं भूल पाएगा।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ