Subscribe Us

एक दूजे के होने वाले प्रेमी युगल ने ट्रेन के आगे कूदकर दी जान

  16 जुलाई को होने वाली थी दोनो की शादी

अपराध संवाददाता (रंजीत बासु)

बाराबंकी। गांधी नगर वार्ड में सूरज अपनी किरण चारों तरफ उजाला से वार्ड रोशन कर रहा था। उसी समय गांधी वार्ड के अंदर दूसरे सूरज की मौत की खबर आ गई। चारों तरफ अंधेरा छा गया मोबाइल बजना शुरू हो गए देखते ही देखते चारों तरफ अफरातफरी का माहौल बन गय सभी लोगों से एक दूसरे से पूछ रहे थे कि आखिर ऐसा क्या हुआ जो पूरे वार्ड में अफरा-तफरी का माहौल है। कुछ समय बाद मालूम हुआ प्रेमी युगल ने ट्रेन के आगे कूद कर जान दे दी। दोनों की घटनास्थल पर मौत हो गई। खबर मिलते ही माहौल गर्म हो गया और चीख पुकार की आवाज आने लगी हर तरफ से लोग मोटरसाइकिल से घटनास्थल सफीपुर गांव रेलवे क्रॉसिंग पर पहुंचे गए। बताया जाता है कि प्रेमी युगल एक दूसरे से मोहब्बत करते थे और दोनों के परिवार राजी भी थे इसी महीने जुलाई 16 तारीख तो शादी भी होनी थी दोनों लोग हंसी-खुशी से शादी के कार्ड  रिश्तेदारों को भेज रहे थे।

   आखिर ऐसा क्या हुआ कौन सी बात दिल में सुई की तरह चुभ गई जो दोनों लोग घर से निकल पड़े बहुत देर तक वापस ना आने पर घर वालों को चिंता हुई घर वाले एक दूसरे से परिवार में रिश्तेदर नातेदार मे खैरियत मालूम करने लगे दोस्तों से भी दोनों परिवार अपने अपने बच्चों की खैरियत पूछ रहे थे मगर किसी को क्या मालूम था यह बच्चे अब जो दरवाजे से चले गए हैं अब वापस नही आएंगे कमजोर बाप का सहारा माँ का प्यारा ने दुनिया से अलविदा कह गया जिस दरवाज़े से शहनाइयां की आवाज सुननी थी उस चौखट पे  खामोशी छा गई यह सुबह दोनों परिवार के घरों मैं हमेशा के लिए अंधेरी रात कर गई बताया जाता है कि दोनों लोग एक ही बिरादरी से थे और दोनों की रजामंदी से शादी हो रही थी जिसमें दोनों परिवार के लोग भी शामिल थे लोगों ने बताया कि दोनों लोग आपस में गले मिल रहे थे एक दूसरे को देख रहे थे खामोश नजरों से अलविदा एक दूसरे से कह रहे थे ट्रेन आते ही दोनों लोग सामने कूद पड़े दोनों लोगों की घटनास्थल पर ही मौत हो गई।

मौका ए वारदात पर जीआरपी पुलिस कोतवाली पुलिस पहुंच गई घटनास्थल का मुआयना करने के बाद लाश तो पोस्टमार्टम हाउस भेज दिया अब देखना यह है कि आखिर मौत का क्या राज़ था इन लोगों ने दुनिया से अलविदा क्यों कहा चंद दिनों में चन्द लम्हों में एक दूसरे के होने वाले सूरज पुत्र बेचेलाल, ज्योति स्वर्गीय प्रेमचंद एक दूजे के होने वाले थे दुख सुख में साथ रहने वाले थे नया जीवन अपनाने वाले थे 16 जनवरी को हमेशा हमेशा के लिए एक दूजे के होने वाले थे आखिर क्यों उठाया ऐसा कदम मौत को लगाया गले पुलिस को घटनास्थल पर मोबाइल मिले हैं जिसकी जांच पड़ताल में पुलिस जुट गई है।

एक टिप्पणी भेजें

1 टिप्पणियाँ

Unknown ने कहा…
कार्यवाही जरूर होनी चाहिए