Subscribe Us

चमत्कारी मोर पंख के नाम पर ठगी करने वाले चार आरोपियों को बाराबंकी पुलिस ने किया गिरफ्तार

    सगीर अमान उल्लाह

  बाराबंकी। चमत्कारी मोर पंख का झांसा देकर लोगो से ठगी करने वाले चार लोगों को बाराबंकी नगर पुलिस ने गिरफ्तार किया है। अपराधियों के पास से 41 हजार रूपये,5 मोबाइल व एक अर्टिगा कार,UP-32 JC 5016 बरामद की गई है।

 कुछ दिन पहले ब्रिज,नेहरू रोड, शान्ताक्रूज ईस्ट मुम्बई निवासी अमृतराज राय चौधरी ने कोतवाली में तहरीर दी, जिसमे कहा गया मेरे पिता के मोबाइल नम्बर पर रिजवान नाम के व्यक्ति द्वारा विशेष प्रकार के मोर पंख का मालिक होने की बात तथा उसके बिक्री हेतु 75 लाख की मांग की गई। 25 लाख पर बात पक्की हुई और मैं अपने पिता के साथ फ्लाइट से बाराबंकी आ गया एवं मयूर होटल में रूका 7 जुलाई  को  रिजवान अपने 4-5 अन्य साथियों के साथ अर्टिगा कार से मयूर होटल आया और मोर पंख  दिखाया मोर पंख टेस्ट कराने के बाद एग्रीमेन्ट तैयार किया और समझौते में मोर पंख की सारी विशेषतायें लिखी, जिस पर सभी के हस्ताक्षर किये एवं एडवांस में हमसे 1 लाख 20 हजार रूपये लिया। मुझे कागज की कॉपी में सेलो टेप लगाकर दिया और कहा कि इसी में मोर पंख है, इसको यहां मत खोलना। कॉपी खोलकर मोर पंख देखना चाहा तो उसमें मोर पंख नहीं था उक्त तहरीर के आधार पर रिजवान व अज्ञात के नाम थाना कोतवाली नगर पर मुकदमा दर्ज किया गया। पुलिस अधीक्षक यमुना प्रसाद द्वारा घटना के सम्बन्ध में अभियुक्तों की गिरफ्तारी के आदेश दिए। प्रभारी निरीक्षक पंकज सिंह कोतवाली नगर के नेतृत्व में पुलिस टीम का गठन किया गया। 8 जुलाई  को नगर पुलिस टीम द्वारा ठगी करने वाले 4 अपराधियों  खालिद पुत्र इंतजार,अफसर अली पुत्र निसार अली, गुलोर रजा पुत्र मजहर खां,भाफीउल्ला पुत्र हिदायत उल्ला, रायपुर सोठियाना थाना निघासन  लखीमपुर खीरी को देवा रोड रेलवे क्रासिंग के पास से गिरफ्तार किया गया। 

  अपराधियों द्वारा बताया गया कि बाराबंकी, लखनऊ एवं आस-पास के जनपदों में घूमघूम कर चमत्कारिक मोर पंख बताकर, वीडियो दिखाकर लोगों से ठगी करते थे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ