Subscribe Us

बाराबंकी : लखनऊ अयोध्या हाइवे पर भीषण हादसा, 18 की मौत 10 घायल

   जावेद शाकिब

  बाराबंकी। कल देर रात बाराबंकी के थाना रामसनेही घाट क्षेत्रान्तर्गत लखनऊ अयोध्या हाइवे पर रोड किनारे खड़ी वोल्वो बस में तेज रफ्तार आ रहे ट्रक ने पीछे से टक्कर मार दी। इस दुर्घटना में 18 लोगो की मौत हो गयी है तथा 10 लोग घायल हो गए हैं। घायलों का इलाज बाराबंकी व लखनऊ ट्रॉमा सेंटर में चल रहा है। 

   मृतकों के परिजनों को सरकार द्वारा प्रधानमंत्री राहत कोष से 2 लाख तथा घायलों को 50 हजार रुपये आर्थिक सहायता देने का एलान हुआ है।

   आपको बताते चले कि यूपी बिहार से बहुत से लोग मजदूरी के लिए बाहर राज्यों में जाते हैं। ऐसे ही बिहार के कुछ मजदूर धान की रोपाई के लिए पंजाब और हरियाणा गए हुए थे। काम पूरा करने के बाद ये लोग वापस बिहार  लौट रहे थे।

पलवल से सवार हुए थे सभी मजदूर

एसपी बाराबंकी ने घटनास्थल पर पहुंच कर पूरी जानकारी ली। एसपी ने बताया कि बस हरयाणा के पलवल से आ रही थी इसमे हिसार और पलवल से यात्री चढ़े थे। एजेंट ने दो बसों के यात्रियों को एक ही बस में बैठाकर भेज दिया। बस में 135 यात्री सवार थे जो बिहार के अलग अलग जबपदो के रहने वाले थे। ये लोग किसानी के काम से हरयाणा पंजाब गए हुए थे। सभी घायलों को रेस्क्यू के जरिये जिला अस्पताल पहुंचाया गया है। 

बस में सवार थे क्षमता से अधिक यात्री

 पोस्टमार्टम हाउस पहुंचे बस में सवार घटना के चश्मदीद भरत सदा ने बताया कि ट्रेवल एजेंट ने बस में जबरन क्षमता से अधिक यात्रियों को भर लिया जिससे बस एक बार तो रास्ते मे पंचर हो गयी , रिपेरिंग के बाद बस जब बाराबंकी आगे पहुंची तो पुल की चढ़ाई पर बस का एक्सेल टूट गया। ड्राइवर द्वारा सभी यात्रियों को बस से उतार दिया गया और मैकेनिक को फोन किया गया। देर होने पर कुछ यात्री बस के आगे कुछ दूरी पर लेट कर सो गए तथा कुछ भोजन करने लगे तभी पीछे से आ रहे ट्रक ने बस में टक्कर मार दी । टक्कर इतनी जोरदार थी कि  लगभग 50 मीटर तक आगे सो रहे यात्रियों पर बस चढ़ गई जो लोग इधर उधर टहल रहे थे वो सकुशल बच गए बाकी कुछ की मौत हो गयी और कुछ गंभीर रूप से घायल है।

मृतकों को 2 लाख व घायलों को 50 हजार रुपये आर्थिक सहायता

मरचुरी हाउस में बीजेपी विधायक सतीश शर्मा ने पत्रकारों से बात करते हुए बताया कि ट्रेवल अजेंट की लापरवाही से ये दर्दनाक दुर्घटना हुई है, प्रशाशन इसकी जांच कर रहा है। जांच पूरी होने के बाद दोषियों पर कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने कहा कि मृतकों के पोस्टमार्टम की प्रक्रिया जारी है, घायलों का उचित इलाज कराया जा रहा है। जो लोग सुरक्षित बच गए हैं उनको गंतव्य तक भेज जा रहा है। घायलों के खाने पीने की व्यवस्था की गई है। सरकार द्वारा मृतक आश्रितों को 2 लाख व घायलों को 50 हजार आर्थिक सहायता दी जाएगी।

    यहाँ ये सवाल उठना लाजमी है कि क्या इस हादसे में एनएचएम की लापरवाही नही है। अगर पेट्रोलिंग के दौरान खराब बस के आसपास के एरिया को चिन्हित कर जरूरी प्रक्रिया की जाती तो हो सकता है इस हादसे से बचाव हो सकता था।

    

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ