Subscribe Us

बारात निकलने से पहले घर में मचा कोहराम, करंट से दूल्हे की मौत

   दुल्हे के नहाते वक्त टिल्लू मोटर से लगा करंट

ब्यूरो सगीर अमान उल्लाह

बाराबंकी। चारो तरफ खुशियों का माहौल गूंज रहा सब सजने संवारने में लगे है घर मेहमानों की आमद से गुलजार है। बैंड बाजा के धुन पर बच्चे थिरक रहे थे उधर अरमानो के लाल जोड़े में दुल्हन सहेलियां संग अपने पिया के इंतिजार में है लेकिन ईश्वर को कुछ और ही मंजूर था बुधवार को बारात निकलने से पहले दूल्हा बिजली करंट की चपेट में आकर दर्दनांक मौत का शिकार हो गया। इस हादशे ने सेहरे की खुशियां छीन कर जनाजे के गम में बदल दिया। जी हाँ हम बात कर रहे मसौली थाना के नहामऊ तकिया की यंहा घटना के बाद परिवार कोहराम में तो पूरा गांव शोक में डूब गया।

  नहामऊ मजरे तकिया निवासी तफज्जुल साई के बेटे मो. मेराज 22 की बारात सीतापुर के रामपुर मथुरा थाना के त्रिपुरा गांव निवासी स्व.कल्लू साई के घर जानी थी। बुधवार 11 बजे मेराज अपने घर के पास हैण्डपम्प पर नहाने गया हैंड पंप में टिल्लू मोटर लगा था जो बिजली सप्लाई के दौरान करंट की चपेट में आ गया। मौके पर मौजूद लोगो के मुताबिक एक बार मुह से कुछ आवाज आई उसके बाद जिस्म बेजान हो गया घटना की जानकारी घर मे पहुची तो चारो तरफ़ कोहराम मच गया। पल भर में पूरा गांव घटना स्थल पर दौड़ पड़ा।
परिजनों ने बताया कि परंपरा के हिसाब से दूल्हा को घड़ा के पानी से नाई नहलाता है। घर की भाभी आदि हाथ पैर पीट साफ करती है। लेकिन मेराज काफी शर्मीला था। घर की भाभी व महिलाये न नहलाये इसके लिए उसने चुपचाप दो साथियों के साथ पास की मस्जिद में नहाने चला गया। यही मौत उसका इंतिजार कर रही थी खबर के पिता महफूज बदहवास होकर गिर गया तो माँ पागलो जैसे अपने जिगर के टुकड़े के जिश्म से लिपट कर चीखने लगी भाई बहनों का बुरा हाल था। पूरा गांव शोक में डूब गया।

दुल्हन जाहिदा फूट कर रोने लगी

अपने होने वाले शौहर की करंट से मौत की ख़बर जब 18 वर्षीय दुल्हन जाहिदा को मिली तो वह अवाक रह गयी कुछ संभलने के बाद हाथो की लाल चूड़ियों को अपने माथे से टकरा कर तोड़ डाली। और फुट फुट कर रोते हुए बार बार यही कहती रही कि मेरी तकदीर फूटी है। परिजनों के मुताबिक दुल्हन की के माता पिता दोनों की मौत हो चुकी है। भाई मो. हासिम की देखरेख में शादी समारोह होना था 3 बहनों में सबसे छोटी जाहिदा को देख कर सबकी आंखे नम हो गयी। जनाजे में पहुचे दुल्हन के भाई हासिम ने बताया कि 5 सौ लोगो को खाने का इन्तिजाम कराया गया था खाना बन गया था दहेज वगैरह सब लग चुका था बस बारात के स्वागत का इंतिजार था लेकिन अफसोस कि एक बहुत दुख दाई फोन ने सबके होस उड़ा दिए पुलिस ने शव का पंचानामा भर कर अंतिम संस्कार करा दिया।

एक टिप्पणी भेजें

1 टिप्पणियाँ

Mahmoodulhaq ने कहा…
बेहद अफ़सोस वाली खबर है, घर वालों को हिम्मत दे.