Subscribe Us

आजाद भारतीय किसान यूनियन ने जिला अधिकारी के माध्यम से राष्ट्रपति को भेजा ज्ञापन

कृषि अध्यादेश कानून वापस ले केंद्र सरकार : निहाल अहमद सिद्दीकी

सगीर अमान उल्लाह

बाराबंकी। कृषि कानून वापस लेने के लिए आजाद भारतीय किसान यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष सुनील कुमार यादव व निहाल अहमद सिद्दीकी प्रदेश उपाध्यक्ष के नेतृत्व में दर्जनों युवाओं ने विरोध कर गन्ना संस्थान कार्यालय में राष्ट्रपति संबोधित ज्ञापन नायब तहसीलदार को सौंपा भारतीय किसान यूनियन के राष्ट्रीय  टिकैत के आह्वान पर कृषि अध्यादेश कानून को वापस लेने को लेकर राष्ट्रपति संबोधित ज्ञापन देकर पर विरोध दर्ज कराया गया साथ में प्रदेश उपाध्यक्ष निहाल अहमद सिद्दीकी ने कहा कि दिल्ली के बॉर्डरो पर किसान अपनी जमीन को बचाने के लिए लगातार संघर्षरत है लेकिन प्रधानमंत्री देश के किसानों के साथ धोखा देने का काम कर रहे है किसानों की बात सुनने को तैयार नहीं है 7 माह हो गए हैं किसान आंदोलन लगातार चल रहा है किसानों की आवाज को सुनने वाला जिस लोकतांत्रिक देश में कोई नहीं है जिसको लेकर   प्रदेश अध्यक्ष, प्रदेश उपाध्यक्ष टिकैत के आवाहन पर राष्ट्रपति संबोधित ज्ञापन सौंपा,देश में अघोषित आपातकाल जैसी स्थिति हो गई यहां पर कोई कानून नाम की चीज नहीं बची है कोई संविधान नहीं है केंद्र सरकार कान खोल कर सुन ले कि जब तक यह किसी काले कानून वापस नहीं होंगे तब तक यह आंदोलन जारी रहेगा यह आंदोलन तब तक जारी रहेगा जब तक भाजपा की सरकार को सत्ता से बाहर कर दिया जाएगा काले कानून देश के प्रधानमंत्री ने अपने चंद उद्योगपति मित्रों के लिए लाए हैं वह काले कानून तत्काल वापस होने चाहिए इस मौके पर जिला जिला अध्यक्ष गजराज यादव अन्य कार्यकर्ता मौजूद रहे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ