-->
सीतापुर : आगामी चुनाव में भाजपा को सबक सिखाएगा किसान

सीतापुर : आगामी चुनाव में भाजपा को सबक सिखाएगा किसान

    रिपोर्ट राकेश पाण्डेय

    सीतापुर। कोविड-19 गाइड लाइन का पालन करते हुए भारतीय किसान मंच के मुंशी गंज कार्यालय  पर संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक मुख्य रूप से उपस्थित रहे प्रदेश अध्यक्ष शिव प्रकाश सिंह की अध्यक्षता में सम्पन्न हुई।

     इस बैठक में सभी वक्ताओं ने अपने अपने विचार व्यक्त किए इस दौरान अपने विचार व्यक्त करते हुए ऋचा सिंह ने कहा कि विगत वर्ष पांच जून को लाए गए कृषि विरोधी काले कानून/अध्यादेशों के विरुद्ध दिल्ली बार्डर सहित सभी राज्यों में हो रहे जबरदस्त विरोध को ध्यान में रखते हुए किसानों पर जबरन थोपे जा रहे कृषि अध्यादेशों को केन्द्र सरकार को वापस ले लेना चाहिए, वरना किसान आन्दोलन दो हजार बाइस के विधानसभा चुनाव व दो हजार चौबीस में होने वाले लोक सभा चुनाव में भाजपा को उखाड़ फेंकेगा। 

       सिख संगठन के गुरुपाल सिंह ने कहा कि गेहूं क्रय केन्द्रों पर प्रशासन की मिली भगत से किसानों का शोषण  किया जा रहा है। जिम्मेदार अधिकारियों तक शिकायत पहुंचने पर भी भी कोई कार्रवाई नहीं होती। अब किसानों के हितों की रक्षा के लिए किसानों को सरकारी तंत्र के भ्रष्टाचार से निजात दिलाने के उद्देश्य से शिकायत मिलने पर  संयुक्त किसान मोर्चा अब गेहूं खरीद केन्द्रों पर  धरना प्रर्दशन के लिए मजबूर होगा।

    संयोजक पिंदर सिंह सिद्धू ने कहा कहा कि अभी सम्पन्न पंचायत चुनाव में समूचे प्रदेश में भाजपा विरोधी लहर दिखी है, निर्दलीय प्रत्याशियों की जीत इस बात का प्रमाण है कि जनता ने सत्ता विरोधी रुख अपनाया है!सभी निर्दलीय चुने गए जिला पंचायत सदस्यों व क्षेत्र पंचायत सदस्यों को जनता के निर्णय का ध्यान रखना होगा । अगर कहीं भी सत्ता पक्ष के दबाव में भाजपा का जिला पंचायत अध्यक्ष या प्रमुख चुना जाता है, जो यह लोकतंत्र की हार होगी, और निर्दलीय चुने गए प्रतिनिधि जनता की नजर में खलनायक बनकर अपना भविष्य खुद धूमिल करे लेंगे। भारतीय किसान मंच के प्रदेश अध्यक्ष शिव प्रकाश सिंह ने कहा कि विगत समय किसान आन्दोलन के दौरान किसानों पर बहुत से फर्जी मुकदमें दर्ज कर अनावश्यक दबाव बनाया गया था। प्रशासनिक अमले में बैठे लोग अविलम्ब  इसका संज्ञान लेते हुए किसानों पर जबरन थोपे गए  फर्जी मुकदमें वापस ले ले, ह

वरना संयुक्त किसान मोर्चा आन्दोलन के लिए बाध्य होगा। इसके लिए सिर्फ और सिर्फ प्रशासन जिम्मेदार होगा।

    महिला प्रकोष्ठ अध्यक्ष अल्पना सिंह ने किसानों से एकजुट होकर संघर्ष का आवाह्न किया।

      बैठक में युवा प्रकोष्ठ मंडल अध्यक्ष शैलेंद्र राज सहित अन्य साथी उपस्थिति रहे।

0 Response to "सीतापुर : आगामी चुनाव में भाजपा को सबक सिखाएगा किसान"

एक टिप्पणी भेजें

Ad

ad 2

ad3

ad4