Subscribe Us

चीतल का मांस बेच रहे पांच शिकारियों को वन विभाग ने किया गिरफ्तार

   ब्यूरो अंकुल गिरी

पलियाकलां-खीरी। तराई में मौजूद दुधवा टाइगर रिजर्व में आए दिन वन्यजीवों की तस्करी के मामले सामने आते हैं जिसको लेकर दुधवा पार्क प्रशासन लगातार एहतियात बरतना नजर आता है जिसमें आए दिन तस्कर वन्यजीवों के अंगों के साथ गिरफ्तार भी किए जाते हैं जिसमें एक बार फिर वन विभाग को बड़ी सफलता हाथ लगी है जहां पर वन कर्मियों ने मुखबिर की सूचना पर विलुप्त प्राय की कगार पर पहुंचा चीतल के मांस के साथ पांच शिकारियों को गिरफ्तार किया है जानकारी के अनुसार पलिया तहसील के   दुधवा टाइगर रिजर्व कि मझगई वन रेंज के वन क्षेत्राधिकारी सुभाष चंद्र वर्मा को मुखबिर द्वारा सूचना मिली की रेंज के जंगल में एक चीतल का शिकार किया गया है और उसके मांस को चुपके से रेंज के ही बसंतापुर गांव में शिकारियों के द्वारा बेचा जा रहा है, सूचना मिलते ही वन क्षेत्राधिकारी सुभाष चंद्र वर्मा अपनी सहयोगी वन दरोगा राकेश शुक्ला, वनरक्षक शरद मिश्रा,विकास सक्सेना आदि को लेकर छापामारी कर चीतल के मांस के साथ पांच शिकारियों को मौके से गिरफ्तार कर लिया, जिनके पास से एक तराजू और काफी मात्रा में चीतल का मांस बरामद किया गया है, वही पूछताछ के दौरान पांचों अभियुक्तों ने अपना नाम महेंद्र,सरवन,भगौती,शिवम्,श्रीपाल, निवासी ग्राम वसंन्तापुर कलां तहसील पलिया बताया है । वहीं पकड़े गए पांचों शिकारियों को वन अधिनियम के अंतर्गत संबंधित धाराओं में जेल भेज दिया गया है ।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ