-->
नौवापुर कोटेदार गायत्री देवी से कार्ड धारक संतुष्ट, कार्ड धारको ने प्रशासन से की मांग यहीं रहे कोटा

नौवापुर कोटेदार गायत्री देवी से कार्ड धारक संतुष्ट, कार्ड धारको ने प्रशासन से की मांग यहीं रहे कोटा

   सत्य स्वरूप संवाददाता

   लखीमपुर खीरी। विकास खंड नकहा के अंतर्गत ग्राम पंचायत नौवापुर के पूर्व कोटेदार को लेकर, ग्रामीणों में रोष व्याप्त हो गया है‌।आपको बताते चलें कि पूर्व कोटेदार संतोष कुमार जो सरकारी सस्ते गले की दुकान को चलाया करते थे। परंतु भ्रष्टाचारी एवं घटतौली की चरम सीमाओं को पार करते हुए खाद्यान्न की काला बाजारी करने लगे थे। और गरीबों का हक छीन कर, उनके पेट को काट कर, उन पर राशन लेने के दौरान शराब पीकर गाली गलौज की बात करना जिससे राशन कार्ड धारक बहुत ही परेशान और क्षुब्ध हो गए थे। जब पानी सिर से ऊपर हो गया तब समस्त ग्रामीण वासियों ने उच्चाधिकारियों से शिकायत की थी। जिस पर संज्ञान लेते हुए  पूर्ति महकमे के द्वारा 2018 में संतोष कुमार का कोटा निरस्त कर दिया गया था। उसके बाद 2019 में ग्राम पंचायत नौवापुर में कोटे की दुकान को लेकर एक खुली बैठक का आयोजन किया गया। जिसमें सर्वसम्मति के द्वारा प्रस्ताव पारित करके गायत्री देवी पत्नी सुनील कुमार को कोटेदार के रूप में चुना गया। जिन्होंने अपनी इमानदारी और कर्मठता को दिखाते हुए समस्त कार्डधारकों का दिल जीत कर ग्रामीणों के ह्रदय में अपना घर बना लिया। उनकी कार्यप्रणाली से समस्त ग्रामवासी तथा प्रधान पति कौशल कुमार राशन वितरण से बेइंतहा संतुष्ट हुए। परंतु अब फिर से भ्रष्ट एवं कालाबाजारी करने वाले पूर्व कोटेदार संतोष कुमार को कोटा वितरण के लिए आदेशित कर दिया गया है जिससे ग्रामीणों में रोष व्याप्त हो गया है और बहुत ही नाराजगी जाहिर की जा रही हैं। कोई भी राशन कार्ड धारक संतोष के पास कोटा जाने के पक्ष में नहीं है, कार्ड धारकों ने प्रशासन से मांग की है जो कोटेदार गायत्री देवी वर्तमान समय में है उन्हीं के पास सार्वजनिक वितरण प्रणाली की दुकान रहे।नौवापुर ग्राम पंचायत के पूर्व कोटद्वार से त्रस्त ग्रामवासी सुरजन, बन्नू, लल्लन, मिथिलेश ,रामप्रसाद, दीपक निषाद, संतराम, लोकन, मुन्ना, मालती प्रसाद, रामपाल, बाबूराम, तीरथ राम, रमाकांत, बैजनाथ, पृथ्वीपाल, पंकज राज, कनौजी लाल, राधा देवी, सुशीला, रामप्यारी, सुरजी व अन्य सैकड़ों कार्ड धारक।

क्षेत्रीय पूर्ति निरीक्षक सर्वेश शर्मा से जब इस संबंध में विधिवत जानकारी प्राप्त करने के लिए प्रयास किया गया,तो उनका मोबाइल नंबर बंद मिला, जिसके कारण उक्त प्रकरण की जानकारी प्राप्त नहीं हो पाई। और उनका पक्ष नहीं रखा जा सका।

इस संबंध में प्रधान प्रतिनिधि क्या कहते हैं

ग्राम पंचायत नौवापुर के प्रधान पति कौशल ने बताया जब से ग्राम पंचायत में गायत्री देवी का सरकारी सस्ते गल्ले की दुकान का लाइसेंस बना है तब से वितरण व्यवस्था सुचारू रूप से चल रही है  कार्ड धारक संतुष्ट है लेकिन पूर्व कोटेदार संतोष कुमार येकी  दुकान बहाल की जाती है तो कार्ड धारकों में रोष पैदा हो जाएगा, और पहले की तरीके से ही फिर से कार्ड धारक खाद्यान्न के लिए परेशान होंगे।

0 Response to "नौवापुर कोटेदार गायत्री देवी से कार्ड धारक संतुष्ट, कार्ड धारको ने प्रशासन से की मांग यहीं रहे कोटा"

एक टिप्पणी भेजें

Ad

ad 2

ad3

ad4