Subscribe Us

प्रेम विवाह से नाराज बेरहम पिता ने ईंट पत्थर से कूचकर की बेटी की हत्या

  असदुल्लाह सिद्दीकी

  चिल्हिया,सिद्धार्थनगर। थाना क्षेत्र  के कपिया खालसा निवासी  अब्दुल मोतीन पत्नी शबनम उर्फ सुनीता 30 वर्ष रविवार को किसी बात को लेकर ससुराल में रह रही सुनीता पिता विश्वनाथ के घर के लोग में किसी आपसी विवाद को लेकर सुनीता के सिर पर ईट व पत्थर  से पीट पीट कर हत्या कर दी गई। हत्या के बाद सुनीता की शव को ससुराल के घर के सामने सड़क पर रखकर मायके वाले घर को छोड़ भाग गए। हत्या की खबर पूरे गांव में फैलते ही गांव में सन्नटा छा गया।गांव के किसी व्यक्ति ने पुलिस को सूचना दी मौके पर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर पंचनामा करके पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया।

 आपको बताते चलें की सुनीता ने अपने परिजनों के बिना मर्जी के वर्ष 2013 में गांव के एक युवक अब्दुल मोतीन से मुंबई के बांद्रा कोर्ट में रजिस्टर्ड शादी करके अपना धर्म परिवर्तन करके अपना नाम शबनम रख लिया था दोनों  आपस में मिलजुल कर मुंबई में रहते थे और उन के पास तीन बच्चे भी हैं एक माह पहले सुनीता मुंबई से आकर गांव में रहने लगेगी थी उसका पति मुंबई कमाने चला गया था। लड़की का पिता यह नहीं चाहता था की शादी करने के बाद मेरी लड़की मेरे गांव में आकर रहे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ