-->
विश्व पर्यावरण दिवस पर विद्यालय में कार्यक्रम का हुआ आयोजन

विश्व पर्यावरण दिवस पर विद्यालय में कार्यक्रम का हुआ आयोजन

कार्यक्रम के तहत वन विभाग स्टाप सहित ग्राम प्रधान ने पौधे रोपकर पर्यावरण संरक्षण का संकल्प

ब्यूरो अंकुल गिरी 

पलियाकलां-खीरी l पर्यावरण और जीवन का अटूट संबंध  है। फिर भी हमें अलग से विश्व पर्यावरण दिवस मनाकर पर्यावरण के संरक्षण संवर्धन और विकास का संकल्प लेने की आवश्यकता है। शनिवार को इसके उपलक्ष्य में विभिन्न कार्यक्रमों के माध्यम से लोगों ने इसके महत्व को रेखांकित किया।

 देश व दुनिया में हरियाली लाने के लिए हर साल की तरह इस बार शनिवार पांच जून को विश्व पर्यावरण दिवस प्राथमिक विद्यालय तिकोना फार्म,सरस्वती शिशु मंदिर, बेला टॉपर में मनाया गया। इसमें सरकारी व गैर सरकारी संगठनों की सहभागिता रही। कई ग्राम पंचायतों ने पौधरोपण के लिए कई सराहनीय पहल की है। विद्यालयों  परिसर के किनारे तैयार की गई ग्रीन बेल्ट इसमें से एक है। वन विभाग ने विश्व पर्यावरण दिवस बैनर तले प्राथमिक विद्यालय तिकोना फार्म  में आयोजित कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मझगई वन क्षेत्राधिकारी सुभाष चंद्र वर्मा ने बताया कि पर्यावरण की सुरक्षा के लिए लगातार कार्य किए जा रहे हैं। विद्यालयों की बाउंड्री के सहारे तीन वर्ष पूर्व पौधे लगाने शुरू किए गए थे, अब वह पौधे बड़े हो रहे हैं। यह ग्रीन बेल्ट न केवल नगर की शोभा बढ़ा रहे है, बल्कि पर्यावरण के लिए भी वरदान साबित हुई है। कोरोना काल में आक्सीजन की कमी ने वृक्षों की याद दिला दी है। उन्होंने बताया कि ग्राम पंचायतों के प्राथमिक विद्यालयों परिसर के चारों ओर पीपल, बरगद व नीम के पांच सौ पौधे लगाए गए, जो अपने आप में एक ऑक्सीजन की फैक्ट्री होगी।

प्रधनाध्यपक सुधीर पांडेय ने बताया कि आधुनिकता की दौड़ में भाग रहे प्रत्येक देश के बीच धरती पर हर दिन प्रदूषण काफी तेजी से बढ़ता जा रहा है. जिसके दुष्परिणाम समय-समय पर हमें देखने को मिलते हैं. पर्यावरण में अचानक प्रदूषण का स्तर बढ़ने से तापमान में भी तेजी देखी जा रही है तो कहीं कहीं पर प्रदूषण के बढ़े हुए स्तर के कारण लंबे समय से बारिश भी नहीं हो पाती. ऐसे में लोगों को पर्यावरण के प्रति जागरुक करने के लिए हर साल विश्व पर्यावरण दिवस मनाया जाता है l ग्राम प्रधान प्रतिनिधि नवीन पांडेय ने कहा 

दुनियाभर में 5 जून के दिन हर साल विश्व पर्यावरण दिवस मनाया जाता है. इस दिन कई कार्यक्रम का आयोजन कर लोगों को पर्यावरण और प्रदूषण से हो रहे नुकसान के प्रति जागरुक किया जाता है. प्रदूषण का बढ़ता स्तर पर्यावरण के साथ ही इंसानों के लिए खतरा बनता जा रहा है. इसके कारण कई जीव-जन्तू विलुप्त हो रहे हैं. वहीं इंसान कई प्रकार की गंभीर बिमारियों का शिकार भी हो रहे हैं.

इस  मौके  मझगई,उप क्षेत्राधिकारी रंजन लाल, वनरक्षक शरद मिश्रा,विकास, ग्राम प्रधान नीलमापांडेय,समाज सेवी रमाकांत पाण्डेय,विवेकानन्द मिश्र, सरस्वती शिशु मंदिर प्रबन्धक ओमप्रकाश, प्रधनाध्यपक अतुल कुमार तिवारी,रमाकांत,नवीन, राजेश मिश्रा,रवि मिश्रा, पुनीत गुप्ता,बेला टॉपर प्रधान निलम देवी ,प्रधानाचार्य रामसागर पर्व प्रधान मूलचंदआदि रहे।

0 Response to "विश्व पर्यावरण दिवस पर विद्यालय में कार्यक्रम का हुआ आयोजन"

एक टिप्पणी भेजें

Ad

ad 2

ad3

ad4