Subscribe Us

अवांरा कुत्तों के हमले से गम्भीर हालत में पहुंचे बच्चे की इलाज के दौरान हुई मौत


रिपोर्ट राकेश पाण्डेय

      सीतापुर। जनपद की तहसील महमूदाबाद के एक गांव में खेत जा रहे बच्चे पर अवांरा कुत्तों ने हमला कर दिया। इससे पांच वर्षीय बालक बुरी तरह से जख्मी हो गया। सोमवार सुबह हुई घटना के बाद परिवार के लोग उसे गंभीर अवस्था में लखनऊ लेकर गए, जहां कुछ देर चले इलाज के बाद मासूम ने दम तोड़ दिया।

      जानकारी के अनुसार महमूदाबाद कोतवाली क्षेत्र के ढखिया गांव में बरातीलाल सोमवार सुबह अपने परिवार के साथ खेत में धान की रोपाई करा रहा था। बराती लाल का कहना है, कि मेरे खेत पर आने के बाद सुबह करीब आठ बजे घर से उसका पांच वर्षीय पुत्र रोहित खेत आने के लिए अकेला निकला आया। रास्ते में शिव प्रकाश का खेत था, जहां पर चार आवारा कुत्ते मौजूद थे।

       बच्चे को अकेला देखकर कुत्तों ने हमला कर दिया। बुरी तरह से जख्मी रोहित खेत में ही बेहोश हो गया। काफी देर बाद घर पर मां अनीता को पुत्र रोहित नहीं दिखा तो वह उसकी तलाश में खेत की ओर चल दी। रास्ते में खेत के किनारे रोहित बेहोश पड़ा मिला और कुत्ते उसे घेरे हुए थे। मां ने कुत्तों को भगाया। घर वाले रोहित को लेकर महमूदाबाद स्थित एक निजी स्वास्थ्य केन्द्र पहुंचे। जहां कुछ देर चले इलाज के बाद भी बच्चे की हालत में सुधार नहीं हुआ तो चिकित्सकों ने बच्चे को लखनऊ के लिए रेफर कर दिया। लखनऊ पहुंचकर जख्मी बच्चे का इलाज एक निजी नर्सिंग होम में प्रारम्भ हुआ, जहां दोपहर करीब तीन बजे मासूम ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। 

     कोतवाली प्रभारी अनिल पाण्डेय राजस्वकर्मियों के साथ ढखिया गांव पहुंचे। जहां रोहित के बाबा रामगोपाल और दादी ज्ञान देवी मिलीं। पीड़ित पक्ष ने बताया कि आवारा कुत्ते इससे पहले भी कई जानवरों पर हमला कर चुके हैं। कोतवाली प्रभारी का कहना है कि आवारा कुत्तों को पकड़ने के लिए   महमूदाबाद नगर पालिका के अधिशाषी अधिकारी को सूचित कर दिया गया है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ