-->
सुर्खियों में रहने वाली रामसनेहीघाट की गरीब नवाज मस्जिद जॉच शुरू

सुर्खियों में रहने वाली रामसनेहीघाट की गरीब नवाज मस्जिद जॉच शुरू


प्रतिनिधि मण्डल के पहुंचने की सूचना पर विवेचक गायब: नरेन्द्र वर्मा

ब्यूरो सगीर अमान उल्लाह

  बाराबंकी। कथित मुकदमें में नोटिस जारी करके दो दिन में मांगा गया था साक्ष्य, किन्तु एक दिन कर दिया पर विवेचक गायब मिले, प्रतिनिधि मण्डल ने जब फोन से विवेचक से वार्ता की कई तो उन्होंने कल आने की बात कहकर फोन काट दिया वर्मा ने बताया कि उपजिलाधिकारी रामसनेहीघाट द्वारा विगत दिनों अंग्रेजों के जमाने से कायम मस्जिद को लाकडाउन का घोर उल्लंघन करते हुए रातो-रात गिरा दिया। विदित हो कि प्रशासन ने मामले को दबाने के लिए मस्जिद की कमेटी व वहां पर जाने वाले लोगों के खिलाफ फर्जी मुकदमा अपराध संख्या-189.2021 419, 420, 467, 468, 471 आई0पी0सी0सी0 मुश्ताक अली आदि 08 नफर दर्ज किया गया था जिसमें विवेचक राजेश कुमार गुप्ता वरिष्ठ उपनिरीक्षक थाना रामसनेहीघाट, बाराबंकी द्वारा साक्ष्य के सम्बंध में दिनांक 07.05.2021 को एक नोटिस जारी कि गई और उसमें दो दिन के अन्दर साक्ष्य उपलब्ध कराने की बात कहीं गई किन्तु जब प्रतिनिधि मण्डल विवेचक से मिलने गया तो विवेचक नहीं मिले और अगले दिन मिलने की बात फोन द्वारा बताई मालूम चला है कि उपरोक्त मामले में क्षेत्रीय विधायक व्यक्तिगत रूचि लेकर प्रशासन पर दबाव बना रहे हैं ताकि मनमर्जी की रिपोर्ट लगाने के लिए देरी दिखाई जाये ताकि उक्त नोटिस टाइम बार्ड के अभाव में एकपक्षीय आदेश पारित करवाया जा सके, लेकिन इस बार हम लोग अन्याय नहीं होने देंगे, हम लोग पीछे हटने वाले नहीं है। उपरोक्त मुकदमें में माननीय उच्च न्यायालय इलाहाबाद खण्डपीठ लखनऊ द्वारा कथित अभियुक्तों की गिरफ्तारी पर रोक लगा दी गई है। 

प्रतिनिधि मण्डल में नरेन्द्र कुमार वर्मा एडवोकेट, मो0 आसिफ एडवोकेट, ताज बाबा राईन, मो0 नईम सभासद विजय वर्मा, रमेश वर्मा, अंगद शुक्ला आदि मौजूद रहे।

0 Response to "सुर्खियों में रहने वाली रामसनेहीघाट की गरीब नवाज मस्जिद जॉच शुरू"

एक टिप्पणी भेजें

Ad

ad 2

ad3

ad4