Subscribe Us

डिजिटल उत्सव सीज़न 2 का हुआ समापन


इंस्ट्रुमेंटल गीतों पर प्यानो और कथक प्रस्तुतियां का जमकर धमाल

सत्य स्वरूप संवाददाता

लखनऊ। अजंली फ़िल्म प्रोडक्शन की ओर से डिजिटल प्लेटफॉर्म पर चल रहे डिजिटल उत्सव का मंगवलार को सांस्कृतिक प्रस्तुतियों के साथ समापन हुआ। सिटीसीएस फैमिली,यूथ होस्टल एसोसिएसन की तुलसीपुर इकाई एवं मेक माई ट्यूशन के टेक्निकल सपोर्ट से तीन दिवसीय सांस्कृतिक प्रस्तुतियो का समागम डिजिटल उत्सव सीज़न दो का आयोजन किया जा रहा था। तीन दिन कई प्रदेशों की कलाओं का ऑनलाइन फेसबुक पेज पर प्रदर्शन हुए । 

मंगलवार को भी कई प्रस्तुति हुई

यूपी कानपुर से काव्या चतुर्वेदी ने मंगलवार को अंतिम दिन पर गणेश वंदना से कार्यक्रम प्रारम्भ किया, उसके बाद कोविड,मां एवं देशभक्ति जैसे विषयों के गीतों पर सुंदर प्रस्तुति दी। कानपुर से शिवा   ने शिव तांडव सहित अन्य शिव गीत पर नृत्य किया। तपस्या ने चुनरी चुनरी पर नृत्य दर्शकों को दिखाया। तेलंगाना से प्रियम घोष ने पियानो पर पल पल दिल के पास तुम रहती हो, गुलाबी आंखे,बाजीगर ओ बाजीगर सहित कई इंस्ट्रुमेंटल गीत बजा कर सुनाया । वाराणसी से श्रद्धा पाल एवं सनिध्या पाल ने शेर और चूहे पर आधारित नाटक प्रस्तुत कर एक दूसरे की मदद का संदेश दिया  साथ ही श्रद्धा पाल ने ऑनलाइन क्लासेस के लाभ और नुकसान पर स्पीच दी। प्रयागराज से आस्था तिवारी ने वाटर कलर से लाइव पेंटिंग करके दर्शकों को बताया साथ ही पेंटिंग के दौरान ध्यान दी जाने वाले आवश्यक जानकारी दी। ललितपुर से अभिषेक बबेले ने कोरोना महामारी पर कविता,नारी शक्ति पर आधारित कविता झांसी की रानी सहित ग़ज़ल और नज़्में भी दर्शकों को सुनाया। लखनऊ से नंदिनी खरे ने कथक विधा में शिव तांडव,मेरे मुर्शिद खेले होली, कथक बीट्स सहित कई गीतों पर कथक प्रस्तुति दी । चेन्नई के स्नेहाशीष रॉय ने बॉलीवुड गीत दर्शकों को सुनाए। अंतिम दिन भी मंच संचालन गरिमा यादव के द्वारा किया गया। टीम मेंबर्स ने पूरे विश्व को कोविड फ्री होने की शुभकामनाएं दी। अंत मे अजंली फ़िल्म प्रोडक्शन के हेड ब्रिजेन्द्र बहादुर मौर्य ने सभी का आभार प्रकट किया।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ