Subscribe Us

जिले के प्रभारी मंत्री के सामने खुली सैफई मेडीकल यूनिवर्सिटी की अव्यवस्थाओं की पोल

  दो घण्टे से तड़प रहा था सेवानिवृत्त फौजी, परिजनों ने की शिकायत 

सुघर सिंह

इटावा। जिले के प्रभारी मंत्री व प्रदेश सरकार के मंत्री सूर्य प्रताप शाही के सामने सैफई मेडीकल यूनिवर्सिटी की अव्यवस्था की पोल उस समय खुल गयी जब एक फौजी के परिजनों ने दो घण्टे से भर्ती न किये जाने का आरोप लगाया है। 

   सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी के कल रविवार को शाम जिले के प्रभारी मंत्री सूर्य प्रताप शाही निरीक्षण करने पहुंचे तो उसी दौरान मैनपुरी जिले के तीमारदार उनके पास पहुंच गया और बताया कि मेरा मरीज दो घण्टे से एम्बुलेंस में मौजूद है उसे भर्ती नही किया जा रहा है एम्बुलेन्स में ऑक्सीजन सिलेंडर खत्म होने को है इस पर मंत्री ने अधीक्षक को मरीज भर्ती कराए जाने का आदेश दिया। 

   प्रभारी मंत्री सूर्य प्रताप शाही के निरीक्षण के दौरान प्रति कुलपति डॉ रमाकांत यादव व अधीक्षक डॉक्टर आदेश कुमार, रजिस्टार सुरेश चंद्र शर्मा  को मरीजों की सभी व्यवस्थाओं की इंतजाम करने के निर्देश दिए कल शाम जिले के प्रभारी मंत्री सूर्य प्रताप शाही व जिलाधिकारी इटावा श्रुति सिंह सैफई पहुंचे उन्होंने सैफई मेडीकल यूनिवर्सिटी के ऑक्सीजन प्लांट का निरीक्षण  किया और प्लांट के बारे में  डॉ गिल से जानकारी हासिल की। मंत्री ने बताया कि मुझे भी कोरोना हो गया था रिपोर्ट निगेटिव आने के बाद जिले में मीटिंग की थी जिसमे कुलपति डॉ राजकुमार व जिलाधिकारी इटावा से मेडीकल यूनिवर्सिटी के बारे में जानकारी की थी जिसके सम्बन्ध में शासन को अवगत कराया था। उन्ही व्यवस्थाओं पर कितना अमल हुआ है इसी का निरीक्षण करने आया हूँ उन्होंने कहा कि मेडिकल यूनिवर्सिटी की व्यवस्थाओं में काफी सुधार हुआ है  बरसों से बंद पड़े प्लांट को सेना के जवानों ने चालू कर दिया है ऑक्सीजन की सप्लाई जल्द शुरू कर दी जाएगी  दूसरा प्लांट भी जल्द ठीक कराया जाएगा सैफई मेडिकल यूनिवर्सिटी में एक नया ऑक्सीजन उत्पादन प्लांट  लगाया जाएगा हमारा प्रयास है सभी के जीवन की रक्षा की जाए । मंत्री ने बताया कि कोरोना से निपटने के लिए सरकार ने ठोस और स्थाई कदम उठाए हैं मेडिकल यूनिवर्सिटी में रेमिडिसवर इंजेक्शन की कोई कमी नही है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ