Subscribe Us

सरकार का गड्ढा मुक्त सड़क का दवा फेल आंवला से रामपुर तकिया व अजान से घरथनिया मार्ग बहा रहा अपनी दुर्दशा पर आंसू

  योगेश कुमार

  अजान खीरी। आंवला से रामपुर तकिया से अजान घरथनिया मार्ग का कोई पुरसाहाल नहीं मरम्मत के अभाव में जर्जर हो चुकी सड़क को पर सफर करना किसी जान जोखिम से कम नहीं बावजूद जिम्मेदार विभाग समेत क्षेत्रीय जनप्रतिनिधि मूर्ख दर्शक बने हुए है इस मार्ग पर दर्जनों गांव के लोग आवागमन करते हैं मार्ग पर पैदल चलना भी दूभर है पूरा मार्ग पूरी सड़क गुजर चुकी है और गड्ढों में तब्दील हो गई सड़क पर रोड़े पत्थर और गड्ढे के सिवाय कुछ नहीं दिखाई देता सड़क पर चलने वाले दोपहिया और चार पहिया वाहनों के टायर पंचर हो जाया करते हैं और पैदल चलने वालों को भी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है शासन प्रशासन इस पर कोई ध्यान नहीं दे रहा है स्थानीय विधायक सांसद इस मार्ग से चुनाव के समय चुनाव के बाद भी मार्ग से निकलते रहते हैं चुनाव जीतने के बाद सत्ता पक्ष विधायक सांसद होने के बाद भी इस मार्ग पर उनका ध्यान नहीं जा रहा है सड़क पर चलने वाले राहगीरों और उस पर दिन रात गुजरने वाले दर्जनों गांव के लोगों के द्वारा कई बार आवाज उठाई गई परंतु इस और विभाग और शासन का ध्यान आकर्षित नहीं हो रहा है प्रदेश को गड्ढा मुक्त सड़क देने का वादा करने वाली भाजपा की वर्तमान सरकार के शब्द लोगों को अब झूठ और लग रहे हैं अजान से घर थनिया मार्ग लगभग 3 किलोमीटर लंबी सड़क इस तरह जर्जर है की उस पर चलना भी दूभर है गांव के लोगों का सरकार के प्रति सड़क के लिए आक्रोश पैदा हो रहा है बरसात का मौसम आ गया जिससे सड़क पर कई जगह जलभराव की स्थित स्थिति उत्पन्न हो गई ज्यादातर बरसात होने पर पूरी सड़क पानी से भी भर जाती है भाजपा सरकार 2022 का चुनाव भी ऐसी ही सड़कों के सहारे लड़ना चाहती है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ