Subscribe Us

पंचायत चुनाव होते ही दूसरे दिन खुलेआम चले हथगोले, आधा दर्जन घायल

  ब्यूरो सगीर अमान उल्लाह

बाराबंकी। वर्चश्व की लड़ाई में दूसरे दिन भी अपने विरोधियों पर ताबड़तोड़ हथगोलो से जानलेवा हमला किया गया। इस दौरान लाइव बमबाजी का वीडियो बना कर ग्रामीणों सोसाल मीडिया पर वायरल कर दिया। गांव में कर्फ्यू जैसा माहौल है। लोग दहसत में अपने घरों में दुबके है। दबंगो के हौसले आसमान पर है ग्रामीणों का कहना है कि चुनाव के बाद से थाना जहांगीराबाद इलाके का बेरिया गांव पूरी तरह अशांत है।  नतीजा यह है कि लगातार दूसरे दिन भी ताबड़तोड़ एक दर्जन जानलेवा हथगोलो से विस्फोट किये गए। इससे गांव में दहसत का माहौल बन गया है। पीड़ित मुन्ना पुत्र बुलाकी ने बताया कि बुधवार की सुबह दवा लेने जा रहा था रास्ते मे आरिफ सहनशाह सब्बीर मुजीब सजीवन हसीब जिलानी ने हाँकि लाठी डंडो से लैस होकर पहले से खड़े थे रास्ता निकलते ही वोट सपोर्ट न करने को लेकर हमला बोल दिया । पीड़ित के मुताबिक जब उसके समर्थन लोग बचाव के लिए दौड़े तो आरोपियों ने हथगोलो से हमला कर दिया पीड़ित की तहरीर पर पुलिस जानलेवा हमला बल्वा मारपीट करने की धाराओं में मुकदमा पंजीकृत किया है मंगलवार की सुबह इसी बेरिया गांव में एक घर मे घुसकर दबंगो ने महिलाओ लड़कियों से बदसलूकी करते हुए मारपीट कर लहूलुहान कर दिया था इस मामले में पुलिस ने दोनों तरफ से 15 लोगो को बल्वा मारपीट करने के जुर्म में नाम जद किया है एक तरफ से मुन्ना पुत्र शौकत सलमान पुत्र मम्मू सादाब पुत्र मेराज कलाम आजाद पुत्र रमजानी सद्दाम पुत्र सरफुद्दीन शमसाद पुत्र निजामुद्दीन मेराज पुत्र रमजानी दूसरे पक्ष से मो. वसीम पुत्र कमरुद्दीन हसीब पुत्र वसीम लतीफ पुत्र वसीन महफूज पुत्र वसीम मुजीब जिलानी पुत्र कुतबुद्दीन मुजीब पुत्र अब्दुल सलाम के अलावा वसीम का दामाद के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है

गांव छोड़ भागे दलित

मंगलवार की साम करीब दो दर्जन दलित थाना जंहागीराबाद पहुच कर पुलिस अधिकारियों को बताया कि साहब वोट न देने पर दबंगो ने जीना मुहाल कर दिया है। पिस्तौल दिखाकर जान से मारने की धमकी देकर लाठी डंडो से हाथ पैर तोड़ने का एलान किया जा रहा है। पीड़ितो ने बताया कि साहब बहन बेटियां ड्री सहमी है हिफाजत करने की कृपा करें । इस मामले को पुलिस ने नजर अंदाज दिया। 

दर्ज हुआ हरिजन एक्ट

मतदान से तीन दिन पूर्व हुए दो विवादों में पुलिस ने एक तहरीर पर प्रधान पति चाँद बाबू मेराज कलाम आजाद सद्दाम राईन पर मुकदमा दर्ज किया था। पंचायत चुनाव शुरू होते ही बेरिया गांव के लोगो ने पुलिस को खूब नचाया दबंगो से अजीज प्रसाशन ने एसडीएम सीओ एसओ के साथ खुली बैठक करके ग्रामीणों को उपद्रव न करने का निवेदन किया लेकिन यहां वर्चस्व की जंग में कोई अपील काम नही आई और एक दूसरे पर लगातार हमले हो रहे है। महीने भर से लवातार बदमाशी हावी है लेकिन सियासी दबाव के आगे आजतक एक भी गिरफ्तारी नही की जा सकी है यही वजह है कि पुलिस दबाव यहा के अपराधियो पर बिल्कुल नही है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ