Subscribe Us

पिता की मौत के बाद कोरोना ने छीना माँ का भी आँचल

मोहम्मद इरफान

करनैलगंज(गोंडा)। कोरोना ने परिवार की महिला मुखिया को अपना शिकार बनाकर बच्चों को अनाथ कर दिया। पहले पिता की मौत और अब कोरोना ने माँ का आँचल भी बच्चों के सर से उठा लिया।अब उन्हें सहारा देने वाला कोई नही है। मामला विकास खंड करनैलगंज अंतर्गत ग्राम पांडेयचौरा के मजरा मगराइच पुरवा से जुड़ा है। यहां के निवासी रामफेर तिवारी की करीब 7 वर्ष पूर्व मौत हो गई थी। गरीबी की मार झेलते हुये उनकी पत्नी राजकुमारी मजदूरी मेहनत करके अपने आठ बच्चों जसवंती 19, जय किशन 17, गब्बर 16, रंजीत 15, माला 14, सन्दीप 13, निरंजन 12, राजन 11 का भरण पोषण कर रही थी। बीते 16 मई को उसकी तबियत खराब हुई। जिस पर उसे गोंडा ले जाया गया। जहां जांच के दौरान उसे कोरोना पॉजीटिव घोषित करते हुये कोविड हॉस्पिटल में भर्ती करवा दिया गया। मंगलवार की शाम उसने दम तोड़ दिया। ग्राम प्रधान राजेश सिंह ने बताया कि शासन के मंशानुसार महिला का दाह संस्कार करने के लिये 5 हजार रुपये की धनराशि उसकी पुत्री को दिया जा चुका है। और पीड़ित के घर के साथ ही पूरे गांव का सेनिटाइजेशन कराया जा रहा है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ