-->
सबसे कम उम्र की महिला प्रत्याशी बानी ग्राम  प्रधान, इस चुनाव में हुई नए युग की शुरूआत पुराने हुए मैदान से बाहर

सबसे कम उम्र की महिला प्रत्याशी बानी ग्राम प्रधान, इस चुनाव में हुई नए युग की शुरूआत पुराने हुए मैदान से बाहर

रिपोर्ट राकेश पाण्डेय

 सीतापुर(हरगांव)। संपन्न हुए त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव में  विकास खण्ड हरगांव के अन्तर्गत गांवों की  सरकार चलाने की जिम्मेदारी गांव के मतदाताओं ने युवाओं के हाथों में सौंपी है। विकास खण्ड के अन्तर्गत  96% युवाओं ने प्रधान पद को अपने कब्जे में किया है।

      सबसे कम 22 वर्षीया सुशीला देबी ने विकास खण्ड  हरगांव की ग्राम पंचायत भटपुरवा के प्रधान पद पर  कब्जा कर अपनी ताकत का अहसास करा दिया। 

    प्राप्त जानकारी के अनुसार हरगांव थाना क्षेत्र के अन्तर्गत विकास खण्ड हरगांव में पंचायत चुनाव की मतगणना लगभग पूरी हो चुकी है ।जिसमें 96% युवाओं ने प्रधान पदों पर जीत दर्ज की है।  न्याय पंचायत नयागांव फिरोजपुर की ग्राम पंचायत भटपुरवा में हुए चुनाव में प्रधान पद की प्रत्याशी रहीं लगभग 22वर्षीया सुशीला देबी पत्नी दीपू यादव ने धड़ाके से चुनाव जीत कर अपनी ताकत का लोहा मनवा लिया। इसी प्रकार   विकास खण्ड हरगांव की निवर्तमान ब्लाक प्रमुख श्रीमती माला वर्मा पत्नी दिलीप वर्मा ने भी ग्राम पंचायत अमितिया से प्रधान पद पर जीत हासिल किया। ग्राम पंचायत अर्मी की जनता ने पुष्प राज सिंह उर्फ अनुपम सिंह को अपना नेता मानकर उन्हें प्रधान पद देकर गांव के विकास की जिम्मेदारी सौंपी है। 

    इसी क्रम कई दशकों से ग्रामीण राजनीति में अपना परचम लहराते चले आ रहे कई प्रधानों को हार का मुंह देखना पडा है । इस बार जनता ने जनता की भावनाओं की कद्र न करने वाले प्रधानों को हरा कर धूल चटाने का कार्य किया है । सभी राजनीतिक हस्ती वाले प्रतिभागियों को इस बार जनता ने बाहर का रास्ता दिखा दिया है ।कुछ दिग्गजों को तो आरक्षण ने बाहर कर दिया था  मगर जुगाड़ लगाकर चुनावी समर में उतरने वालों को जनता ने उनकी औकात बताते हुए उन्हें सही जगह पर भेजते हुए बाहर का रास्ता दिखाया है । विकास खण्ड हरगांव की जनता ने चुनाव के माध्यम से दलालों के ब्लाक परिसर में प्रवेश करने के लिए उन लोगों की राजनीति ही प्रायः समाप्त कर दी है ।जनता पक्षपात नहीं विकास चाहती है इसी लिए गांवों में परिवर्तन करके गांव की सरकार को युवाओं के हाथों  में सौंपने का कार्य किया है।

0 Response to "सबसे कम उम्र की महिला प्रत्याशी बानी ग्राम प्रधान, इस चुनाव में हुई नए युग की शुरूआत पुराने हुए मैदान से बाहर"

टिप्पणी पोस्ट करें

Ad

ad 2

ad3

ad4