-->
बाराबंकी : बहुत ही सादगी के साथ संपन्न हुआ उर्स ए इस्माइली, कुल शरीफ में सिर्फ चंद लोग हुए शामिल

बाराबंकी : बहुत ही सादगी के साथ संपन्न हुआ उर्स ए इस्माइली, कुल शरीफ में सिर्फ चंद लोग हुए शामिल

      मोहम्मद रेहान/मो इमरान 

मसौली। कोरोना महामारी को देखते हुए व सरकार द्वारा जारी कोविड 19 गाइडलाइन के साथ जनपद बाराबंकी के कस्बा मसौली में उर्स ए इस्माइली सादगी के साथ मनाया गया।

   कोरोना महामारी को देखते हुए इस साल उर्से इस्माईली खानकाहे कादरिया रज़्जाकिया इसमाईलिया के साहिबे सज्जादा मखदूमुल मशाइख जानशीने सरकार मसौली हज़रत अल्लामा सय्यद शाह गुलज़ार इस्माईली वासती क़ादरी रज़्जाकी इस्माईली साहब क़िब्ला ने अपने तमाम मुरीदीन को कोरोना महामारी की वजह से खानकाह शरीफ आने से मना कर दिया और फरमाया कि अपने अपने घरों में रह कर ही कुल शरीफ का एहतिमाम करें। 

हज़रत के इस ऐलान पर अमल करते हुए चन्द लोगों की मौजूदगी में इस्माईली मस्जिद इस्माईली नगर ब्लाक मसौली शरीफ मे कुल शरीफ का ऐहतिमाम हुआ जिसकी सदारत असीरे सरकार गुलज़ार ए मिल्लत मोहम्मद असलम रज़ा का़दरी इसमाईली साहब क़िब्ला मनेज़र मदरसा हबीबिया फैज़ाने गुलज़ार ए मसौली शरीफ ब्लाक ने फरमाई और हाफ़िज अख्तर रज़ा रामपुरी की तिलावत से महफिले पाक का आगा़ज हुवा और मौलाना आमिर रज़ा इसमाईली रामपुरी ने नात व मनक़बत पेश की और मौलाना इमामुल हक़ नूरी रामपुरी ने कुल शरीफ पढा फिर हाफ़िज सैफ रज़ा इसमाईली खतीब व इमाम इस्माईली मस्जिद में दुनिया मे फैली कोरोना जैसी वबा से दुनिया के सभी लोगो के लिए दुआ फरमाई।

0 Response to "बाराबंकी : बहुत ही सादगी के साथ संपन्न हुआ उर्स ए इस्माइली, कुल शरीफ में सिर्फ चंद लोग हुए शामिल"

एक टिप्पणी भेजें

Ad

ad 2

ad3

ad4