-->
घटना के 36 घंटे बाद भी हत्यारों तक नहीं पहुंच सकी पुलिस, परिजनों का रो-रो कर हो रहा बुरा हाल

घटना के 36 घंटे बाद भी हत्यारों तक नहीं पहुंच सकी पुलिस, परिजनों का रो-रो कर हो रहा बुरा हाल

  रिपोर्ट राकेश पाण्डेय

   सीतापुर। जनपद के थानगांव थाना क्षेत्र के पटवन भैंसी गांव में आयोजित तिलक समारोह में शामिल होने आए बालक की कुकर्म के बाद हत्या अज्ञात के द्वारा कर दी गई। हत्या के मामले में 36 घंटे बीत जाने के बाद भी पुलिस के हाथ हत्यारों तक नहीं पहुंच पाये हैं, भारी भरकम फौज केवल हवा में हाथ पांव चला रही है।

    हत्या का खुलासा न कर पाने के कारण ग्राम सहित क्षेत्र में आक्रोश व्याप्त हो रहा है वहीं घटना के खुलासे के लिए लगाई गईं पुलिस की तीन टीमें अभी भी लगातार क्षेत्र में खाक छान रही हैं। 

    पुलिस मृतक के गांव से तिलक समारोह में शामिल होने आए सभी लोगों पर नजर बनाने के साथ-साथ पटवन भैंसी के हर संदिग्ध युवक पर बारीक नजर रख रही है।  

    मालूम हो कि थानगांव थाना क्षेत्र के पटवन भैंसी मजरे राजपुर क्योटाना निवासी मुकेश पुत्र सम्बारी के यहां बुधवार की रात्रि आयोजित तिलक समारोह में बाराबंकी जनपद के रामनगर कोतवाली क्षेत्र के ग्राम अगानपुर निवासी श्यामलाल अपने सात वर्षीय बेटे आदित्य के साथ शामिल होने के लिए आया था। बालक तिलक कार्यक्रम के समय से ही कहीं गायब हो गया। काफी तलाश करने के बाद भी बालक का रात में कोई पता नहीं चला था। गुरुवार की सुबह शौच गयी महिलाओं ने गांव के उत्तर लगे गन्ने के खेत में एक बालक का शव बालक का शव  नग्नावस्था में पड़ा देखा, शौच गई महिलाओं ने बालक का शव पड़े होने की जानकारी परिजनों सहित  ग्रामीणों को दी।

      सूचना पर पहुंचे परिजनों ने शव की पहचान लापता बालक आदित्य के रूप में की। मृतक बालक के शर्ट से ही उसके हाथ-पांव बंधे थे व मुंह में अंडरवियर ठूंसा हुआ था।

     सूचना पाकर पहुंची पुलिस ने शव को कब्जे में लेकर शव का पोस्टमार्टम कराया। पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने पर बालक की कुकर्म के बाद गला दबाकर हत्या किए जाने की पुष्टि हुई। घटना के बाद से ही गांव में करीब आधा दर्जन से अधिक थानों की पुलिस फार्स लगा दी गई थी। सीओ रविशंकर प्रसाद ने बताया कि घटना के शीघ्र खुलासे के लिए तीन टीमें बनाई गई हैं। टीमें संदिग्धों पर बारीकी से नजर रखते हुए पड़ताल में जुटी हैं। जल्द ही घटना का खुलासा कर अपराधियों को सलाखों के पीछे पहुंचाया जाएगा। क्षेत्राधिकारी ने कहा इस जघन्य हत्याकांड के अपराधी को किसी भी दशा में बख्शा नहीं जाएगा और उसे कड़ी से कड़ी सजा दिलाने का प्रयास किया  जाएगा।

0 Response to "घटना के 36 घंटे बाद भी हत्यारों तक नहीं पहुंच सकी पुलिस, परिजनों का रो-रो कर हो रहा बुरा हाल"

एक टिप्पणी भेजें

Ad

ad 2

ad3

ad4