Subscribe Us

उत्तर प्रदेश में मिशन 2022 में जुटी बीजेपी, योगी आदित्यनाथ कैबिनेट का होगा विस्तार

   सचिन कुमार श्रीवास्तव

   लखनऊ। यूपी में योगी सरकार के मंत्रिमंडल विस्तार की अटकलों के बीच सियासी हलचल तेज है। मंत्रिमंडल का विस्तार लगभग तय माना जा रहा है। दरअसल तीन मंत्रियों की मौत के बाद पद खाली है। यही नहीं चर्चा है कि मंत्रिमंडल में कुछ नए चेहरे शामिल किए जा सकते हैं। आपको बता दें कि योगी कैबिनेट में इस समय 53 मंत्री हैं। इसमें 23 कैबिनेट मंत्री, 9 राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार और 21 राज्य मंत्री हैं।

   जानकारी के मुताबिक योगी कैबिनेट में मंत्रियों की संख्या 60 हो सकती है। ऐसे में देखने वाली बात होगी कि अगामी चुनावी समर को देखते हुए क्या मंत्रियों की संख्या बढ़ाई जाएगी? या सिर्फ खाली पदों पर ही किसी को जिम्मेदारी दी जाएगी। हालांकि सियासी गलियारों में चर्चाएं तेज हैं। पर हकीकत क्या है यह तो पर्दा उठने के बाद ही पता चलेगा। योगी सरकार के तीन मंत्रियों की कोरोना से मौत के बाद पद खाली है। होमगार्ड मंत्री और पूर्व क्रिकेटर चेतन चौहान का निधन हो गया था। चेतन चौहान का निधन कार्डियक अरेस्ट के कारण हुआ था। चेतन चौहान कोरोना वायरस से भी संक्रमित थे। वहीं कोरोना संक्रमण के कारण कैबिनेट मंत्री और कानपुर के घाटमपुर से विधायक कमल रानी वरुण की भी मौत हो गई थी। 18 जुलाई को कोरोना पॉजिटिव आने के बाद उन्हें लखनऊ पीजीआई में भर्ती कराया गया था। कोरोना वायरस महामारी की दूसरी लहर ने मंत्री विजय कश्यप को भी छीन लिया। ऐसे में तीन पद खाली है जिनकी जिम्मेदारी किसी को मिलनी है। इधर कई दिनों से योगी मंत्रिमंडल विस्तार की अटकलें चल रही थी कि रविवार को संघ के साथ बैठक हुई। इसके बाद संघ सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले लखनऊ पहुंचे गए। बताया जा रहा है कि लखनऊ केंद्र रहा है। होसबोले संघ के लोगों से मुलाकात करेंगे। हालांकि जब से आईएएस एके शर्मा को यूपी में एमएलसी बनाया गया है तभी से इस बात की भी चर्चा हो रही है कि उन्हें भी योगी कैबिनेट में जगह मिल सकती है। इस  कोरोना काल में जिस तरह से एके शर्मा पूर्वांचल में सक्रिय रहे उससे भी उनके मंत्री बनने के कयास लगाए जाने लगे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ