Subscribe Us

पंचायत चुनाव ; घूंघट की आड़ से निकलकर पति के लिए वोट मांग रही हैं शर्मिला यादव

 


चुनावी रंजिश में जेल भेजे गए थे शर्मिला के पति प्रत्याशी चंदगीराम यादव

मतदाताओं के सामने झोली फैलाकर वोट माँग रही है शर्मिला यादव 

सैफई (इटावा)। सैफई क्षेत्र के ग्राम पंचायत कुइया में चुनावी रंजिश मुक़दमे के आरोपी प्रधान अखिलेश यादव उर्फ़ चंदगीराम यादव की पत्नी शर्मिला यादव अपने पति को जिताने के लिए जी जान से जुटी हुई है वह घर घर जाकर झोली फैला कर वोट मांग रही है उन्होंने कहा कि विपक्षियों ने सत्ता पक्ष का फायदा उठाते हुए मेरे पति के विरुद्ध झूठा मुकदमा सिर्फ इसलिए दर्ज कराया है कि ताकि वह चुनाव न जीत सके और चुनाव हार जाएं और हम धन बल व दबंगई के बल पर चुनाव जीत जाएँ। उन्होंने कहा ग्राम पंचायत की जनता विरोधियों के मंसूबे कभी कामयाब नहीं होंने देगी। उन्होंने कहा कि सब जान चुके है कि मेरे पति को झूठे मुकदमे में निर्दोष फसाया है जब कि मेरे पति घटना के समय मौजूद भी नहीं थे शर्मिला यादव के घर घर जाकर वोट मांगने से विपक्षियों में हड़कंप मचा हुआ है और नए-नए जोर आजमाइश कर रहे हैं शर्मिला यादव ने आरोप लगाया है विपक्षी पैसा व अन्य सामान बांट रहे हैं और मतदाताओं को धमका रहे है और पुलिस प्रशासन तमाशा देख रहा है।

 आज शर्मिला यादव ने ग्राम पंचायत के गांव कुइया, नगला चौधरी, नगला केसरी, नगला लाले, नगला श्री, नगला विहारी, नगला तेज, नगला नेकराम में घर घर जाकर वोट मांगे इस समय शर्मिला यादव के पति चंदगीराम यादव कोरोना पॉजिटिव हैं उन्हें 14 अप्रैल को जेल भेजा गया था जहां से इलाज के लिए सैफई लाया गया है और वह कोविड वार्ड में भर्ती है और अपना इलाज करा रहे हैं शर्मिला यादव का दावा है कि मेरी पति  चंदगीराम की जीत इस बार ऐतिहासिक होगी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ