-->
कानपुर : महामारी में भी अधिकारी लापरवाह, नही उठाते जरूरत मंदो के फोन

कानपुर : महामारी में भी अधिकारी लापरवाह, नही उठाते जरूरत मंदो के फोन

रिपोर्ट : अनवर अशरफ 

कानपुर। समाजवादी पार्टी कानपुर महानगर के तत्वाधान में उत्तर प्रदेश व कानपुर शहर में कोरोनावायरस जैसी  जानलेवा बीमारी के बढ़ते संक्रमण से शहर की जनता को सही इलाज व दवाएं उपलब्ध कराने हेतु नगर अध्यक्ष डॉक्टर इमरान द्वारा पिछले 3 दिनों से मंडलायुक्त जिलाधिकारी सीएमओ को लगातार फोन पर और कार्यों से समय लेने हेतु फोन किया जा रहा है पर किसी भी अधिकारी ने फोन रिसीव नहीं किया और अधिकारियों के कर्मचारी द्वारा समय देने के लिए गुमराह करने पर नगर अध्यक्ष डॉ इमरान ने आज बड़ा चौराहा भारत माता प्रतिमा स्थल पर देश के महामहिम राष्ट्रपति महोदय के नाम अपने खून से पत्र लिखकर कानपुर शहर में कोरोनावायरस से जनता की होने वाली मृत्यु से अवगत कराया तथा जनता की सुरक्षा के लिए गुहार लगाई।

खून से लिखा राष्ट्रपति को खत

इस अवसर पर नगर अध्यक्ष डॉक्टर इमरान ने महामहिम राष्ट्रपति महोदय के नाम अपने खून से पत्र लिखकर पत्र के माध्यम से बताया कि इस समय कानपुर शहर में कोरोनावायरस जैसी  बीमारी से हजारों की संख्या में जनता पॉजिटिव हो रही है कानपुर शहर के कोविड-19 अस्पतालों में 691 बेड खाली होने के उपरांत भी डॉक्टरों द्वारा अस्पताल में बेड उपलब्ध नहीं है कह कर मरीजों को वापस किया जा रहा है कानपुर शहर में ऑक्सीजन की भारी किल्लत है मरीजों को समय से ऑक्सीजन वह सही इलाज ना मिलने के कारण पॉजिटिव मरीज अपने घरों में सड़कों पर  और अस्पतालों के गेटो पर दम तोड़ रहे हैं।

स्वास्थ्य सेवाएं पूरी तरह से ध्वस्त

   डॉ इमरान ने आगे बताया कि कानपुर शहर की स्वास्थ्य सेवाएं पूरी तरह ध्वस्त हो गई है सीएमओ के बिना आदेश मरीजों को भर्ती नहीं किया जा रहा है कानपुर शहर में अस्पतालों व बेड की कमी के कारण कोरोनावायरस की स्थिति भयावह हो गई है होम आइसोलेशन के करने के लिए दवाओं की एक किट मिलती है जिसकी कीमत बाजार में 1100 रुपए है जिसको बाजार में ब्लॉक करके ऊंचे दामों में बेचकर मोटी रकम कमाई जा रही है।

ब्लैक में बेचे जा रहे इंजेक्शन

   डॉ इमरान ने आगे बताया कि कानपुर शहर का कोई भी बड़ा अधिकारी मंडलायुक्त जिलाधिकारी सीएमओ किसी की नहीं सुन रहे हैं जनता के फोन अधिकारियों द्वारा रिसीव नहीं किए जा रहे हैं बड़े अधिकारियों ने जनता को मरने के लिए छोड़ दिया है कानपुर शहर की जनता अब सिर्फ भगवान भरोसे रह गई है कानपुर शहर में इंजेक्शन रेम दे सीविर जो एक विषाणु कोरोना संबंधित जंक्शन है वह इंजेक्शन मार्केट से गायब हो गया है इंजेक्शन की कालाबाजारी करके इंजेक्शन को 30 40 हजार रुपए तक बेचा जा रहा है प्रदेश की योगी सरकार के द्वारा कोरोनावायरस जैसी इस जानलेवा बीमारी से जनता को बचाने के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठाए जा रहे हैं और जो व्यवस्थाएं हैं वह पूरी तरह से चरमरा गई है जनता को किसी प्रकार की राहत नहीं मिल पा रही है मंडलायुक्त जिलाधिकारी और सीएमओ कोरोनावायरस  जानलेवा बीमारी से घबराकर लापता हो गए हैं इनको ढूंढ कर लाने वाले जनता के हितैषी होंगे।

    कार्यक्रम में प्रमुख रूप से नगर महासचिव अभिषेक गुप्ता मोनू नगर उपाध्यक्ष नरेंद्र सिंह पिंटू ठाकुर सुभाष द्विवेदी जमालुद्दीन जुनैदी टिल्लू जायसवाल मधु यादव जीशान अहमद अंकित यादव अनिल मिश्रा आदि लोग उपस्थित रहे।

0 Response to "कानपुर : महामारी में भी अधिकारी लापरवाह, नही उठाते जरूरत मंदो के फोन"

टिप्पणी पोस्ट करें

Ad

ad 2

ad3

ad4