-->
अधिकारी पस्त, जनता को लूट कर व्यापारी हो रहे मस्त

अधिकारी पस्त, जनता को लूट कर व्यापारी हो रहे मस्त

   सन्तोष कुमार 

निघासन-खीरी। वैश्विक महामारी कोरोना के चलते सरकार द्वारा प्रदेश भर में सप्ताहिक बंदी व 2 दिन के सम्पूर्ण लॉकडाउन का ऐलान कर दिया गया है। जिसे बड़े-बड़े व्यापारियों ने आपदा को अवसर के रूप में बदल लिया है और लोगों को लूटने के जुगाड़ में लग गएं है। पिछले साल की तरह इस साल भी कुछ बड़े व्यापारियों ने अपने-अपने गोदामों को सजाना शुरू कर दिया है। और लगभग सारी चीजों का रेट बढने लगे है। जैसे- की गुटखा व सिगरेट के साथ-साथ और कई अन्य चीजे अधिकतर रेटों में बिकने लगे है। गुटखा व सिगरेट के एक-एक पैकेट पर 20 से 30 रूपये बढ़ोतरी की गई है। क्षेत्र व अन्य जगहों के बड़े-बड़े व्यापारियों द्वारा कालाबाजारी शुुरू कर दी गई है। और लोगों ने बताया की पिछले वर्ष भी जब सरकार द्वारा लॉकडाउन की घोषणा हुई थी। तब जितने भी बड़े-बड़े दुकांदार थे और रोज प्रयोग होने वाले सामानों की कालाबाजारी शुुरू कर दी थी। और साथ ही गुटखा जैसे-समाग्री रू०5 वाला कमला पसंद रू०15 का बिका था। रू०5 वाली बीड़ी सिगरेट से भी तीन गुने रेट पर बिक रही थी। उसी तरह इस वर्ष भी सभी चीजों का रेट  तेजी से बढने लगा है। इस तरह सप्ताहिक लॉकडाउन हुआ तो लॉकडाउन का नाम सुनते ही किराना के व्यापारियों में खुशी का माहौल है। जिला लखीमपुर-खीरी के निघासन, झण्डी, सिंगाही, धौरहरा, रमिया बेहड़, पढुहा, तिकुनिया, पलिया क्षेत्र के सभी गांवों में हो रही लूट सरकार को इस लूटने वाले दुकांदारों की जांच करवानी चाहिए।

0 Response to "अधिकारी पस्त, जनता को लूट कर व्यापारी हो रहे मस्त"

टिप्पणी पोस्ट करें

Ad

ad 2

ad3

ad4