-->
सड़क की स्थिति पर नजर रखने के लिए नेटवर्क सर्वेक्षण वाहन के इस्तेमाल को अनिवार्य करेगा एनएचएआई

सड़क की स्थिति पर नजर रखने के लिए नेटवर्क सर्वेक्षण वाहन के इस्तेमाल को अनिवार्य करेगा एनएचएआई

     नई दिल्ली (पीआईबी)। यात्रियों को बेहतर सड़क उपलब्ध कराने की अपनी प्रतिबद्धता के अनुरूप, भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण (एनएचएआई) ने राष्ट्रीय राजमार्गों की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए नेटवर्क सर्वेक्षण वाहन (एनएसवी) को तैनात करने का निर्णय लिया है। राष्ट्रीय राजमार्गों पर परियोजना के पूरा होने पर सड़क की स्थिति और उसके बाद हर छह महीने में सड़क की स्थिति प्रमाणित करने के समय एनएसवी का उपयोग अनिवार्य किया गया है। परामर्श सेवाओं के लिए मानक बोली दस्तावेज के एक हिस्से के तौर पर एक प्रावधान को भी शामिल किया गया है।

   बइस तैनाती से राजमार्गों की समग्र गुणवत्ता को बढ़ाने में मदद मिलेगी क्योंकि एनएसवी नवीनतम सर्वेक्षण तकनीकों का उपयोग करता है। इसमें 3600 इमेजरी वाला हाई-रेजोल्यूशन डिजिटल कैमरा लगा है जो नियमित अंतराल पर तस्वीरें और वीडियो रिकॉर्ड करता है। साथ ही यह लेजर रोड प्रोफिलोमीटर और सड़क पर  होने वाली अन्य आपातकालीन परिस्थियों की जानकारी के लिए अन्य संबंधित प्रौद्योगिकी से लैस है।

   एनएसवी सड़क की स्थिति के विश्लेषण, सड़क की सतह की लंबाई, सड़क पर आई दरारों, गड्ढों और पैच सहित सड़क की स्थिति का विश्लेषण करने के लिए जानकारियां इकट्ठा करने में मदद करता है। इसके अलावा, एनएसवी सड़क के किनारों पर बने नालों और सड़क फर्नीचर आदि से संबंधित डेटा भी प्रदान करेगा।

   एनएसवी सर्वेक्षण के माध्यम से एकत्र किए गए डेटा को भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस आधारित पोर्टल डेटा लेक पर अपलोड किया जाता है जहां सड़क संपत्ति प्रबंधन सेल (आरएएमएस) द्वारा इस बात का आकलन और विश्लेषण किया जाता है कि किस सड़क की क्या स्थिति है और इसी के आधार पर प्राथमिकता तय कर रखरखाव का आगे का कार्य तय किया जाता है।

   इस प्राप्त डेटा से सड़क संपत्ति प्रबंधन सेल अपने संसाधनों और सड़क की स्थिति को दुरुस्त रखने की रणनीति बनाता है और इस काम के लिए खुद को तैयार रखता है। सड़क नेटवर्क योजना पर महत्वपूर्ण जानकारी देने के अलावा, सड़क सुरक्षा उपायों के विकास जैसे अन्य पहलुओं पर प्रासंगिक जानकारी प्रदान करना, यह राजमार्ग रखरखाव रणनीतियों को विकसित करने, रखरखाव के विश्लेषण और इष्टतम रखरखाव शासन के चयन में भी सहायता करेगा।

   एनएसवी सर्वेक्षणों के माध्यम से एकत्र किए गए आंकड़े सड़क की स्थिति में कमियों को उजागर करेंगे औरबीओटी ऑपरेटरों / भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण अधिकारियों को सड़क की स्थिति को वांछित स्तर पर लाने के लिए सुधारात्मक कदम उठाने के लिए प्रेरित करेंगे। इसकी बदौलत राष्ट्रीय राजमार्गों के बेहतर रखरखाव सुनिश्चित हो सकेगा, जिससे राजमार्ग उपयोगकर्ताओं के लिए अधिक आरामदायक और बेहतर यात्रा अनुभव होगा।


0 Response to "सड़क की स्थिति पर नजर रखने के लिए नेटवर्क सर्वेक्षण वाहन के इस्तेमाल को अनिवार्य करेगा एनएचएआई"

टिप्पणी पोस्ट करें

Ad

ad 2

ad3

ad4