-->
नशामुक्ति के लिए महिलाओं को आगे आने की जरूरत

नशामुक्ति के लिए महिलाओं को आगे आने की जरूरत

  अमित कुमार

मसौली/बाराबंकी। अपराध की जड़ नशा है जिससे मुक्ति के लिए महिलाओं को आगे आने की जरूरत है जब महिलाएं अपने अधिकारों के प्रति जागरूक होगी तभी अपराध मुक्त एव नशामुक्त समाज की स्थापना की जा सकती हैं। 

उक्त बातें रविवार को अतिपिछड़े गांव बंजारनपुरवा में मिशन शक्ति अभियान के क्रम में महिलाओं की बैठक को सम्बोधित करते हुए प्रभारी निरीक्षक विजेंद्र शर्मा ने कही उन्होंने कहा कि महिलाओ एव बालिकाओं की सुरक्षा के लिए पुलिस हमेशा मदद के लिए  तैयार है  उन्होंने कहा कि किसी भी समस्या को छिपाये न  खुलकर सामना करे जुर्म के खिलाफ आवाज उठाये जब भी समस्या आये पुलिस की मदद ले। प्रभारी निरीक्षक विजेंद्र शर्मा ने महिलाओं को शिक्षा के प्रति जागरूक करते हुए कहा कि आप सभी लोग अपने बच्चों को स्कूल अवश्य भेजें सरकार बच्चो को शिक्षा के साथ साथ दोपहर का भोजन, यूनिफॉर्म, जूता मोजा, किताबें मुफ्त दे रही हैं जब आपके बच्चे पढ़ लिख जाएंगे तब समाज मे फैली बुराइयां अपने आप हट जाएंगी।

महिला उपनिरीक्षक शिखा सिंह ने कहा कि मिशन शक्ति अभियान का मुख्य उद्देश्य है कि जन जागरूकता करते हुए सुरक्षित वातावरण प्रदान किया जाय तथा अपराध हिंसा करने वालों की पहचान को उजागर कर महिलाओं को आत्म सुरक्षा हेतु प्रशिक्षित किया जाय। महिला उपनिरीक्षक शिखा सिंह ने  सरकार द्वारा संचालित टोल फ्री नंबर 112 ,101 ,181 ,102, 108 ,1098,1076 ,1090, 354, 376 आदि के बारे में विस्तार पूर्वक जानकारी दी तथा घर बैठे अपनी मदद लेने के प्रति प्रेरित करते हुए घरेलू हिंसा, दहेज उत्पीड़न के प्रति जागरूक किया। महिला उपनिरीक्षक शिखा सिंह ने महिलाओं को प्रेरित करते हुए कहा कि आप सभी लोग एकजुट होकर शराब के खिलाफ मुहिम चलाये जिससे जब लोग नशे से दूर रहेंगे तभी घर परिवार में खुशहाली रहेगी।

0 Response to "नशामुक्ति के लिए महिलाओं को आगे आने की जरूरत "

एक टिप्पणी भेजें

Ad

ad 2

ad3

ad4