-->
वसीम रिजवी इस्लाम से खारिज है, उसके बयान दहशतगर्दी को बढ़ावा देते हैं - मौलाना रज़ा

वसीम रिजवी इस्लाम से खारिज है, उसके बयान दहशतगर्दी को बढ़ावा देते हैं - मौलाना रज़ा

  ब्यूरो सगीर अमान उल्लाह

बाराबंकी। वसीम रिजवी इस्लाम से खारिज है किसी को भी कुरान में एक ज़ेर ज़बर कमीं या ज्यादती  करने का हक नहीं । कुरआन मजीद मुकम्मल तौर पर पैगामें अम्न है । कोई इसे ना समझ सके तो यह उसकी जिहालत की दलील है  । शिया ओलमा  बाराबंकी मौलाना सैयद मोहम्मद रज़ा इमामे जुमा शिया मस्जिद और मौ0 सैयद मोहम्मद इब्ने अब्बास शिया मस्जिद मौथरी ने मुश्तरका बयान जारी करते हुए कहा है की हम वसीम रिजवी सुप्रीम कोर्ट में दाखिल की गई पिटीशन जिसमें कहा गया है कि कुरान मजीद की कुछ आयते  दहशत गर्दी को बढ़ावा देती हैं उन्हें कुरान से निकाल दिया जाए की पुरजोर मरम्मत करते हैं वाज़े हो कि माजी में भी वसीम इस तरह के घटिया और इस्लाम दुश्मन बयानात दे चुके हैं । लेकिन इस बार पानी सर से ऊंचा हो चुका है हम वाज़े तौर पर ऐलान करते हैं कि वसीम का कौमे शिया और मजहबे इस्लाम से कोई ताल्लुक नहीं है हम  वसीम रिजवी और  हर उस शख्स से बेजारी और बराअत का इजहार करते हैं जो वसीम रिजवी को दोस्त रखे या उसकी हिमायत करे हमारा ईमान है कुरआन मजीद की एक एक आयत और एक एक जेरो जबर पर खुद खुदा परवरदिगार ने कुरआन में ऐलान किया है किये ज़िक्र हमने नाज़िल किया और हम्ही इसकी हिफाज़त करने वाले हैं  इसके बाद किसी को कुरआने मजीद में एक जेरो जबर  की भी कमी या ज्यादती का हक़ नहीं है और जो ऐसा करने की कोशिश करें वह लानती और जहन्न्मी है  कुरआन मजीद मुकम्मल तौर पर पैगामें अम्न है कोई इसे ना समझ सके तो यह उसकी जिहालत की दलील है।

0 Response to "वसीम रिजवी इस्लाम से खारिज है, उसके बयान दहशतगर्दी को बढ़ावा देते हैं - मौलाना रज़ा"

एक टिप्पणी भेजें

Ad

ad 2

ad3

ad4