Subscribe Us

गौशाला बने होने के बावजूद भी हो रही समस्याएं आवारा घूम रहे पशु

ब्यूरो चीफ़ अंकुल गिरी

सिंगाही खीरी। सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ का गाय प्रेम किसी से छिपा नहीं है गायों के प्रति उनकी इस संवेदनशीलता का ही नतीजा है कि राज्य में सरकार बनने के बाद से ही गायों की सुरक्षा स्वास्थ्य और उनकी देखभाल के लिए कई फैसले लेकर गौशालाए बनवाने के निर्देश दिए गए बजट में अलग से इसके लिए  प्रावधान किया गया लेकिन राज्य का शायद ही कोई ऐसा इलाका हो जहां से आए दिन गायों बछड़ो के मरने की खबर ना आती हो वो भी भूख से मरने की बताते चलें कि नगर पंचायत सिंगाही भेडौरा में जिम्मेदारों की लापरवाही के चलते बनी गौशाला में एक भी गाय नही है  स्थानीय लोगों का कहना है की गौशाला शुरू न होने से घूम रहे आंवरा गौवंशीय पशुओं से अपनी फसलों की सुरक्षा के लिये उन्हें रात रात जागकर अपनी फसल बचानी पड़ रही है करीब दो वर्ष पूर्व नगर पंचायत सिंगाही भेडौरा मैं गौशाला बनवाई गयी थी गौशाला निर्माण में लाखों का खर्चा किया गया है  पर लापवाही के चलते अभी तक गौशाला शुरू नही की गई नगर पंचायत के मेला मैदान में पूरे सिंगाही का कचरा डाला जाता है  गौशाला शुरू न होने के कारण सुबह शाम इसी मेला मैदान में गौवंशी पशुओं का जमवाड़ा लगता है और भूंख से तड़फ रहे गौवंशीय पशु मेला मैदान में पड़े कचरे को खाकर अपना पेट भर रहे हैं जब भी इस विषय पर जिम्मेदारों से बात की जाती है तो सिर्फ एक जवाब मिलता है फाइल एसडीएम साहब के ऑफिस पहुंच चुकी है आदेश मिलते ही गौशाला शुरू कर दी जाएगी।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ