Subscribe Us

राष्ट्रीय महिला दिवस के मौके पर समाजवादी पार्टी द्वारा किया गया महिला घेरा कार्यक्रम का आयोजन

सत्य स्वरूप संवाददाता

मसौली बाराबंकी। प्रदेश की प्रथम राज्यपाल स्वतंस्त्रता संग्राम सेनानी सरोजनी नायडू का जन्मदिन राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर मसौली चौराहे पर समाजवादी पार्टी द्वारा महिला घेरा कार्यक्रम का   आयोजन किया गया। समाजवादी महिला घेरा कार्यक्रम में ग्रामीण क्षेत्र सैकड़ो  महिलाओं ने भाग लिया घेरा बनाओ कार्यक्रम में महिलाओ के ऊपर हो रहे अपराध बलात्कार और महंगाई जैसी समस्या पर चर्चा की गयी।

समाजवादी महिला सभा की पूर्व जिलाध्यक्ष ओमप्रभा की अध्यक्षता में आयोजित कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए पूर्व विधायक रामगोपाल रावत ने कहा कि बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ का नारा देने वाली भारतीय जनता पार्टी की सरकार में ही बेटियों पर सबसे ज्यादा अपराध हुए है सरकार की निरकुंश्ता के चलते बहु बेटियां सुरक्षित नही है। आये दिन महिलाओ के साथ होने वाली घटनाएं इस बात की सुबूत है कि देश एव प्रदेश में पूरी तरह से जंगल राज कायम है। पूर्व विधायक रामगोपाल रावत ने कहा कि पूर्ववती सपा सरकार में महिलाओ की सुरक्षा के लिए हंमारे मुख्यमंत्री। अखिलेश यादव ने डायल 1090, डायल 100 जैसी जहाँ सुविधा दी। महिलाओ के मान सम्मान के लिए समाजवादी पेंशन दी जिसमे सभी महिलाओ को 6 हजार रुपया पेंशन के रूप दिया जाता था जिसे इस महिला विरोधी सरकार ने बन्द कर दिया है। उन्होंने कहा कि हमारे राष्ट्रीय स्तर अखिलेश यादव ने एलान किया है कि 2022 में सपा सरकार बनने पर 12 हजार रूपये समाजवादी पेंशन दी जायेगी।

निवर्तमान जिला पंचायत सदस्य शकील सिद्दीकी 

ने कहा कि महिलाओ के प्रति अच्छी सोच रखने वाली यदि कोई पार्टी है तो समाजवादी पार्टी है। सपा सरकार ने महिलाओ को आगे बढ़ने के ही उद्देश्य से लैपटॉप एव कन्या विद्या धन योजना जैसी कल्याणकारी योजनाएं संचालित की परन्तु बदले की भावना से काम करने वाली भाजपा सरकार ने महिलाओ की कल्याणकारी योजनाओं को बन्द कर दिया है। घेरा बनाओ कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रही समाजवादी पार्टी की पूर्व जिलाध्यक्ष ओमप्रभा ने कहा कि समाजवादी पार्टी की कथनी एव करनी में कोई फर्क नही है सपा सरकार में महिलाएं  सुरक्षित थी परन्तु वर्तमान समय में महिलाओ पर जुल्म ज्यादती जारी है और और हर दिन किसी न किसी बहन बेटी की इज्जत से खिलवाड़ हो रहा है। कानून व्यवस्था चरमरा गयी है कही किसी का कोई सुनने वाला नही है। ओमप्रभा ने महिलाओ से आने वाले विधानसभा चुनाव में साईकिल वाला बटन दबाकर अखिलेश यादव को पुनः मुख्यमंत्री बनाने की अपील की।

इस मौके पर प्रधान राममूर्ति यादव, रामनरेश यादव, जैसीराम यादव, हफीज राइन, श्रवण कुमार रावत, अशोक यादव, विकास यादव, रोहित यादव, मुईन अंसारी, हरिनाम यादव, राहुल गुप्ता, शांति देवी, रेशमा बानो, रामावती सहित भारी संख्या में महिलाएं मौजूद रही।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ