Subscribe Us

किसान संगठनों ने कृषि बिलों के विरोध में जिलाधिकारी को दिया राष्ट्रपति को सम्बोधित ज्ञापन

ब्यूरो सगीर अमान उल्लाह

बाराबंकी। राष्ट्रीय आवाहन पर आज किसान एकता मोर्चा के अध्यक्ष लालजी यादव की अगुवाई में किसान संगठनों ने कृषि बिलों के विरोध में महामहिम राष्ट्रपति महोदय को संबोधित ज्ञापन जिला अधिकारी को सौंपा ।

 इस मौके पर किसान मोर्चा के अध्यक्ष लालजी यादव ने कहा कि जब तक बिल वापस नहीं होंगे धरना प्रदर्शन जारी रहेगा जिन किसानों के ऊपर फर्जी मुकदमे दर्ज किए गए हैं और जिन किसानों को जेल भेजा गया है उनको तत्काल रिहा किया जाए और मुकदमे वापस लिए जाए। दिल्ली बॉर्डर पर धरना दे रहे किसानों की मांगों पर अब तक सरकार द्वारा ध्यान नहीं दिया जा रहा है, केंद्र सरकार पूरी तरह से पूंजीपतियों के हाथों की कठपुतली बन चुकी है ,दिल्ली की सीमा पर अपने हितों की रक्षा के लिए जमा हुए अन्यदाताओं के साथ उग्रवादियों सा व्यवहार किया जा रहा है, सरकार उन्हें कभी डराने का काम करती है तो कभी उनके खिलाफ दुष्प्रचार कर के आंदोलन को कुचलने का कुचक्र रच रही है ।अब तक कई दर्जन किसान ठंड में अपनी जान गवा चुके हैं इसके बाद भी इस संवेदनहीन  सरकार की जिद नहीं छूट रही है पूरे देश में कृषि कानूनों का किसान एक स्वर में विरोध कर रहे हैं। अगर इस पर विचार विमर्श कर संज्ञान ले  और किसानों की मांगों को तत्काल पूरी की जाएं, नहीं तो हर जिले में दिल्ली जैसा आंदोलन किया जाएगा  इस अवसर पर मुख्य रूप से राजेन्द्र तिवारी प्रदेश अध्यक्ष किसान बेरोजगार सशक्तिकरण संघ, सुनील कुमार यादव आजाद भारतीय किसान यूनियन प्रदेश अध्यक्ष, लालजी यादव मंडल अध्यक्ष भारतीय किसान यूनियन लोक शक्ति, सुनील यादव जिला अध्यक्ष, के के शुक्ला जिला अध्यक्ष संयुक्त किसान यूनियन,  राम नारायण यादव अंबावत गुट, मुराद अली मंडल महासचिव, दयाराम यादव जिला अध्यक्ष धर्मेंद्र गुट, सत्यनारायण यादव जिला अध्यक्ष दलित गुट, सुनील कुमार वर्मा जिला अध्यक्ष जनशक्ति गुट, रेखा वर्मा जिला अध्यक्ष महिला मोर्चा लोक शक्ति,  पप्पी रावत  अंबावत गुट, रामबरन वर्मा टिकैत गुट, मोहम्मद तुफैल भारतीय जन एवं जनजाति किसान महासभा,राजकुमार,अमित कुमार पटेल,मो फहद, मो शादाब,नवीन वर्मा,मो शाहिद अंसारी,मो आरिफ आदि लोग उपस्थित रहे।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ